हिंडन नहीं में हुआ ऐसा हादसा कि देखने वाले भी दिल थाम कर रोने लगे

पिकनिक मनाने आए चार पहुंचे बच्चों में से एक ही लौटा घर

By: Iftekhar

Published: 15 May 2018, 10:02 PM IST

गाजियाबाद. उत्तर प्रदेश में मंगलवार का दिन काला दिन साबित हुआ। जब एक के बाद एक कोई हादसों की खबर आई । इसी कड़ी में गाजियाबाद में भी भयानक हादसा हुआ। यहां हुए हादसे में दो बच्चों की मौत हो गई और 1 बच्चे का कुछ पता नहीं लग पाया। मामला साहिबाबाद के पास करहेड़ा इलाके में हिंडन नदी का है। नदी किनारे पिकनिक मनाने के लिए आए 4 बच्चे डूब गए थे। इस दौरान 2 बच्चों की डूबने से मौत हो गई। एक बच्चे को बचा लिया गया, जबकि एक की तलाश अब भी जारी है। मौके पर एनडीआरएफ टीम के 9 लोग भी बच्चे की तलाश में लगाए गए हैं। एक महीने में गाजियाबाद में डूब कर मरने वाले बच्चों की संख्या 5 हो गई है। इससे पहले मसूरी की नहर में पिकनिक मनाने के लिए गए बच्चे भी डूब गए थे।

यह भी पढ़ेंः Big Breaking: पुलिस का खुलासा, सहारनपुर में ठाकुरों ने नहीं मारा था भीम आर्मी नेता के भाई को, ऐसे लगी थी गोली

गाजियाबाद में साहिबाबाद इलाके के पास करहेड़ा पुल के नीचे से गुजरने वाली हिंडन नदी के पास पिकनिक मना रहे चार बच्चे नहाने चले गए । इस दौरान जब बच्चे डूबने लगे तो मौके पर शोर मचने पर आई पुलिस ने एक बच्चे को बचा लिया, लेकिन 3 बच्चे नदी के आगोश में समा गए। थोड़ी ही देर में 2 बच्चों की लाश मिली, जिसके बाद कोहराम मच गया। एक बच्चे की तलाश खबर लिखने तक जारी थी। मौके पर एनडीआरएफ की टीम भी पहुंची, लेकिन तीसरे बच्चे का सुराग नहीं मिला।

यह भी पढ़ेंः कैराना-नूरपुर उपचुनाव से पहले इस नेता ने अजीत सिंह के साथ भाजपा और सपा नेताओं को ला दिया एक मंच पर
एनडीआरएफ के अलावा स्थानीय पुलिस बल भी मौके पर लगा हुआ है। प्राइवेट गोताखोर भी लगातार बच्चे की तलाश कर रहे हैं। सभी बच्चों की उम्र 11 साल से 16 साल के बीच बताई जा रही है। ये सभी पास के ही रहने वाले हैं । जिस बच्चे को तलाशा जा रहा है, उसके परिजनों का मौके पर रो-रो कर बुरा हाल है और जिन बच्चों की मौत हो गई, उनके परिजनों के घर में भी मातम छा गया है। बताया जा रहा है कि एक बच्ची की बीमार होने से मौत हो गई थी। जिसको दफनाने के लिए कुछ लोग यहां पहुंचे थे उन्होंने ही बच्चों को डूबते हुए देखा तो शोर मचाया, जिसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची।

यह भी पढ़ेंः कैराना-नूरपुर उपचुनाव से पहले मुजफ्फरनगर पहुंचकर अजित सिंह ने किया ये काम, भाजपा के उड़े होश

इससे पहले गाजियाबाद के मसूरी इलाके में भी एक महीने में इसी तरह से नहर में डूबकर 3 बच्चों की मौत हो चुकी है। वह भी पिकनिक मनाने और नहाने के लिए गए थे । हिंडन नदी के आसपास किसी तरह के सेफ्टी इंतजाम नहीं है। और ना ही यहां पर किसी तरह की गाइडलाइन दी गई हैं कि यह जगह दुर्घटना संभावित हो सकती है । ऐसे में बच्चों की मौत का जिम्मेदार कौन है ? यह जांच के बाद ही साफ हो पाएगा। लेकिन उत्तर प्रदेश में मंगलवार का दिन काला दिन साबित हुआ, वाराणसी में बड़ा हादसा होने के बाद गाजियाबाद में भी हादसे ने 3 बच्चों को उनके परिवार से छीन लिया।

Show More
Iftekhar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned