यूपी चुनाव2017: भाजपा ने की ये गलती तो चुनाव में होगा नुकसान

यूपी चुनाव2017: भाजपा ने की ये गलती तो चुनाव में होगा नुकसान
bjp

sandeep tomar | Publish: Dec, 07 2016 05:32:00 PM (IST) Ghaziabad, Uttar Pradesh, India

पिछले कुछ चुनावों में भाजपा को इस गलती के कारण काफी नुकसान उठाना पड़ा है

गाजियाबाद। यूपी विधानसभा चुनाव से पहले राजनीतिक पार्टियों के बीच इन—ऑउट का दौर शुरू हो गया है। विधायक से लेकर मंत्री टिकट की आस में अपना पाला बदल रहे हैं। गाजियाबाद भी इस अदला—बदली के खेल से अछूता नहीं है। अभी कुछ दिन पहले कैबिनेट मंत्री राजपाल त्यागी के बेटे पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष अजीत त्यागी ने भारतीय जनता पार्टी को लखनऊ में ज्वाइंन किया। खुद प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्या ने उनकों पार्टी की शपथ ग्रहण कराई।

भीतराघात का खतरा

गाजियाबाद के कुछ ऐसे कार्यकर्ता जो टिकट के लिए आस लगाए बैठे थे। उनके दिल अब डोल गए हैं, अंदरखाने सबको लग रहा है कि अब उनकी दावेदारी कमजोर पड़ सकती है। पार्टी ने पिछले लोकसभा चुनाव की तरफ अगर फिर से पैराशूट प्रत्याशियों को मौका दिया तो पार्टी को भीतरघात का शिकार होना पड़ सकता है। पिछले चुनाव में मोदी लहर की वजह से विरोधियों के हौंसले पस्त हो गए थे। लेकिन इस बार अगर ऐसा हुआ तो एक लॉबी ऐसी तैयार हो जाएगी जो भाजपा की लुटिया को डूबाने का काम करेगी। साथ ही इसका सीधा फायदा विपक्ष के लोगों को मिल सकता है।

टिकट की शर्त पर की पार्टी में एंट्री

भाजपा के अंदरखाने के सूत्रों की मानें तो पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष अजीत त्यागी को मुरादनगर विधानसभा चुनाव में सीट के लिए टिकट दिए जाने के आशवासन पर ही एंट्री मिली है। दिल्ली और प्रदेश की राजधानी लखनऊ में कई बार पूर्व कैबिनेट मंत्री और उनके बेटे की भाजपा आलाकमान से मुलाकात हो चुकी थी। बस आशवासन की दरकरार में अभी तक भाजपा को ज्वाइन नहीं किया था।

कौन—कौन है मुरादनगर सीट से दावेदार

मुरादनगर विधानसभा सीट के लिए पुराने संघ कार्यकर्ता व प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य डॉ. विरेश्वर त्यागी, आरकेजीआईटी कॉलेज के चैयरमैन दिनेश गोयल, अभिषेक त्यागी, ब्रजपाल तेवतिया और अब अजित त्यागी लिस्ट में शामिल है।

ओम माथुर और बंसल की बैठक में हो चुका है काफी कुछ तय

पश्चिचमी यूपी के टिकटों को लेकर ओम माथुर और प्रदेश महामंत्री संगठन सुनील बंसल की मीटिंग हो चुकी है। इनमें दो त्यागी चेहरों के नामों को शॉर्ट लिस्ट किया गया है, इसमें से एक बाहरी एवं एक पार्टी के बेहद वरिष्ठ त्यागी चेहरे के नाम शामिल है। सूत्र बताते हैं कि पीएमओ की रिपोर्ट में डॉ. वीरेश्वर त्यागी और पूर्व इनकम टैक्स कमिश्नर प्रदीप त्यागी भी पीछे नहीं है।

राजनाथ के खास का मानना


केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह के करीबी और मुरादनगर सीट के दावेदार ब्रजपाल तेवतिया का कहना है कि चुनाव हार और जीत दोनों के लिए होता है। हार के साथ-साथ मैंने प्रतिदिन चुनाव लड़ा है। मैं पूरे साढ़े चार वर्षों से जनता के बीच में रहा हूं। दुख-दर्द, खुशी में शरीक हुआ हूं। मौजूदा विधायक को मैंने भूला दिया, वह जनता के बीच में उतना नहीं रहा, जितना मैं रहा। हार-जीत कोई मायने नहीं रखती। मैंने पार्टी की विचारधारा जनता के बीच पहुंचाने का काम किया है।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned