मां-बाप ने कर ली दूसरी शादी और बच्चों को रखने से कर दिया इनकार, सड़क पर भटकने लगे बच्चे

मां-बाप ने कर ली दूसरी शादी और बच्चों को रखने से कर दिया इनकार, सड़क पर भटकने लगे बच्चे

Ashutosh Pathak | Updated: 27 May 2019, 03:42:47 PM (IST) Ghaziabad, Ghaziabad, Uttar Pradesh, India

  • मां-बाप के होते हुए भी बच्चे हुए अनाथ
  • झगड़े के बाद मां-बाप ने कर ली दूसरी शादी
  • बच्चों को भेजा गया अनाथालय

गाजियाबाद। कहावत है कि पुत्र भले की कुपुत्र हो जाए लेकिन माता कभी कुमाता नहीं होती और पिता जो बच्चों की उंगली थामे रहता है चाहे जैसी भी परिस्थिति रहे, बच्चो को दो वक्त के निवाले के लिए कुछ भी कर गुजरता है। लेकिन बदलते दौर के साथ ये कहावत बदलती जा रही है, और गाजियाबाद के मुरादनगर से जो तस्वीर सामने आई है वो इस बात की तस्दीक भी करती है। दरअसल एक ऐसा मामला सामने आया है जो आपको सोचने पर मजबूर कर देगा और आपके आंखे भर आएंगी। जहां मां-बाप के झगड़े की सजा बच्चों को भुगतनी पड़ रही है।

दरअसल मामला मुरादनगर के जलालाबाद गांव का हैं जहां के रहने वाले एक पति-पत्नी में अक्सर झगड़ा होता था। जिसकी वजह से उन्होंने अलग होने का फैसला किया। दोनों के दो बच्चे हैं जिसमें से एक की उम्र 5 साल और दूसरे की 8 साल है। लेकिन बच्चों को मोह त्याग कुछ दिन बाद दोनों अलग होकर अलग-अलग शादी कर ली। लेकिन मामला यहां नहीं खत्म हुआ। अब देनों में से कोई भी बच्चों को साथ रखने को तैयार नहीं।

खेलो पत्रिका Flash Bag NaMo9 Contest और जीतें आकर्षक इनाम, कॉन्टेस्ट मे शामिल होने के लिए http://flashbag.patrika.com पर विजिट करें।

जानकारी के मुताबिक पुलिस ने बताया कि जलालाबाद गांव निवासी योगेंद्र की शादी कुछ वर्षों पहले पूनम के साथ शादी हुई थी। लेकिन करीब 6 महीने पहले योगेंद्र और उसकी पत्नी पूनम की किसी बात को झगड़ा गया। गुस्से में पूनम अपने दोनों बच्चों को साथ लेकर घर छोड़ कर चली गई। कुछ समय बाद पूनम ने दूसरे युवक के साथ शादी कर ली। इस बीच उसके पति ने भी दूसरी शादी कर ली।

ये भी पढ़ें: जब नवजात अचानक पहुंचा थाने तो पुलिसकर्मी भी रह गए दंग

कुछ दिन बाद जब पूनम के दूसरे पति ने बच्चों को रखने से इनकार कर दिया तो वह दोनों बच्चों को पहले पति के पास छोड़कर चली गई। लेकिन उसने भी बच्चों को रखने से इनकार कर दिया। आलम यह रहा कि दोनों बच्चे सड़क पर आ गए और भटकने लगे। इस बीच गाव वालों ने पुलिस को सूचना दी। जिसके बाद इन बच्चों को चाइल्ड लाइन संस्था को सौंप दिया गया।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned