scriptyati narsinghanand giri becomes mahamandaleshwar of juna akhara | विवादित बयानों को लेकर चर्चाओं में रहने वाले यति नरसिंहानंद बने जूना अखाड़े के महामंडलेश्वर | Patrika News

विवादित बयानों को लेकर चर्चाओं में रहने वाले यति नरसिंहानंद बने जूना अखाड़े के महामंडलेश्वर

जूना अखाड़े के पांच महामंडलेश्वर ने मिलकर यति नरसिंहानंद सरस्वती का ब्रह्म मुहूर्त में 6.30 बजे पीठाधीश्वर आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी श्री अवधेशानंद गिरी महाराज की मौजूदगी में विधि विधान से महामंडलेश्वर पट्टा अभिषेक किया। अब वे महंत स्वामी नरसिंह आनंद गिरि महामंडलेश्वर के नाम से जाने जाएंगे।

गाज़ियाबाद

Published: October 23, 2021 10:47:45 am

गाजियाबाद. डासना स्थित प्राचीन देवी के मंदिर के महंत यति नरसिंहानंद सरस्वती को जूना अखाड़े में शामिल कर उन्हें महामंडलेश्वर बनाया गया है। जिस तरह से पंच परमेश्वर को साक्षी मानकर कोई भी शुभ काम किया जाता है। ठीक उसी प्रकार जूना अखाड़े के पांच महामंडलेश्वर ने मिलकर यति नरसिंहानंद सरस्वती का ब्रह्म मुहूर्त में 6.30 बजे पीठाधीश्वर आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी श्री अवधेशानंद गिरी महाराज की मौजूदगी में विधि विधान से महामंडलेश्वर पट्टा अभिषेक किया। अब वे महंत स्वामी नरसिंह आनंद गिरि महामंडलेश्वर के नाम से जाने जाएंगे।
ghaziabad2.jpg
आपको बताते चलें कि गाजियाबाद के डासना स्थित प्राचीन देवी मंदिर के महंत यति नरसिंहानंद सरस्वती पिछले काफी समय से इस मंदिर में महंत है और हमेशा अपने विवादित बयानों को लेकर चर्चाओं में रहते हैं। खासतौर से शुरू से ही इनकी धारणा हिंदूवादी रही है। महामंडलेश्वर का कहना है कि इन्हें कई बार जान से मारने की धमकी भी मिल चुकी है, क्योंकि देवी के प्राचीन मंदिर के आसपास विशेष समुदाय के लोगों की संख्या बहुत ज्यादा है। उसके लिए उन्होंने मंदिर के गेट पर ही एक बड़ा बोर्ड लगाया हुआ है कि विशेष समुदाय के लोगों का मंदिर परिसर में प्रवेश वर्जित है। इस बात को लेकर भी पूरे इलाके में चर्चा का विषय बना हुआ है।
यह भी पढ़ें- आगरा में महिला ने क्यों ले ली जिंदा भू-समाधि ? जानिये यहाँ…

उन्होंने कहा कि क्षेत्रीय विधायक विशेष समुदाय का होने के कारण मंदिर के गेट पर इस तरह लिखा जाना विधायक को नागवार गुजरा और उन्हें धमकी भी दी गई थी। बहरहाल इन तमाम मुद्दों को लेकर कई बार वह साधु-संतों की संगत को लेकर अकेले महसूस कर रहे थे, लेकिन अब इन्हें जूना अखाड़े में शामिल ही नहीं किया गया, बल्कि महामंडलेश्वर भी बना दिया गया है। अब महंत यती नरसिंहानंद गिरी महामंडलेश्वर काफी मजबूत स्थिति में आ गए हैं। क्योंकि जूना अखाड़ा को साधुओं के बड़े संगठन का अखाड़ा माना जाता है।
गाजियाबाद के प्रसिद्ध भगवान दूधेश्वर नाथ मठ मंदिर के महंत नारायण गिरी महाराज ने विस्तार से दी है। वहीं, दूसरी तरफ महंत यति नरसिंह आनंद गिरि महाराज ने भी जूना अखाड़े में शामिल किए जाने पर कोटि-कोटि आभार जताया है। उन्होंने विधि विधान से जुने अखाड़े के द्वारा पट्टा अभिषेक के दौरान संकल्प लिया है कि वह जीवनभर जूना अखाड़े के सभी नियमों का पालन करते हुए हिंदू धर्म की रक्षा में ही रहेंगे। उन्होंने इस दौरान कहा कि यदि उनकी मौत भी होती है तो हिन्दू धर्म की रक्षा के लिए हो।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

देश में वैक्‍सीनेशन की रफ्तार हुई और तेज, आंकड़ा पहुंचा 160 करोड़ के पारपाकिस्तान के लाहौर में जोरदार बम धमाका, तीन की नौत, कई घायलजम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, लश्कर-ए-तैयबा का आतंकी जहांगीर नाइकू आया गिरफ्त मेंCovid-19 Update: दिल्ली में बीते 24 घंटे के भीतर आए कोरोना के 12306 नए मामले, संक्रमण दर पहुंचा 21.48%घर खरीदारों को बड़ा झटका, साल 2022 में 30% बढ़ेंगे मकान-फ्लैट के दाम, जानिए क्या है वजहचुनावी तैयारी में भाजपा: पीएम मोदी 25 को पेज समिति सदस्यों में भरेंगे जोशखाताधारकों के अधूरे पतों ने डाक विभाग को उलझायाकोरोना महामारी का कहर गुजरात में अब एक्टिव मरीज एक लाख के पार, कुल केस 1000000 से अधिक
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.