बेनामी संपत्ति मालिकों पर योगी सरकार का चाबूक, अब इन शहरों में आधार से लिंक करानी होगी प्रॉपर्टी

बेनामी संपत्ति मालिकों पर योगी सरकार का चाबूक, अब इन शहरों में आधार से लिंक करानी होगी प्रॉपर्टी

Ashutosh Pathak | Updated: 11 Oct 2019, 12:23:37 PM (IST) Ghaziabad, Ghaziabad, Uttar Pradesh, India

Highlights

  • आधार कार्ड से लिंक होगी संपत्ति
  • योगी सरकार लागू करने जा रही नया नियम
  • बेनामी संपत्तियों का होगा लेखा-जोखा

गाजियाबाद। एक के बाद फैसेले से चौंकाने वाली योगी सरकार ( yogi gov ) ने एक और बड़ा फैसला लिया है। जिससे कई लोगों की नींद उड़ गई है। दरअसल योगी सरकार ने अब बेनामी संपत्ति ( Benami property ) पर नकेल कसने की तैयारी कर ली है। योगी के इस मास्टर प्लान को अमलीजामा पहनाने के लिए तैयारी भी शुरू हो गई है।

प्रदेश सरकार ( Uttar Pradesh ) की योजना के मुताबिक सभी शहरी प्रॉपर्टी ( Property ) अब मालिक के आधार कार्ड ( Aadhar Card ) से लिंक की जाएंगी। शुरूआती चरण में यह योजना पश्चिमी यूपी के गाजियाबाद ( Ghaziabad ) , मेरठ ( Meerut ) के अलावा वाराणसी ( Varasasi ) , लखनऊ ( Lucknow ) , कानपुर ( Kanpur ) , आगरा ( Agra ) और प्रयागराज ( Prayagraj ) में लागू की जाएगी। धीरे-धीरे पूरे प्रदेश में लागू कर दी जाएगी।

जानकारी के मुताबिक राज्य सरकार सर्वे ऑफ इंडिया से तकनीकी सहायता लेगी और रिटायर्ड आईएएस अफसर की अध्यक्षता में एक उच्च स्तरीय कमेटी का गठन किया जाएगा। इस कमेटी में प्लानिंग, शहरी व ग्रामीण विकास विभाग और विकास प्राधिकरणों और नगरपालिका निकाय के प्रतिनिधि शामिल होंगे।

आपको बता दें कि ये योजना कर्नाटक में पहले से ही लागू है, माना जा रहा है कि इससे बेनामी और अन्य संपत्तियों की पहचान की जाएगी। क्योंकि वर्तमान में प्रदेश में कई संपत्ति ऐसी हैं जिनका कोई लेखा-जोखा नहीं है। आधार कार्ड से लिंक होने के बाद सही संपत्ति के मालिक का पता चल सकेगी। साथ ही फर्जीवाड़ा रोका जा सकेगा और नगर पालिकाओं को टैक्स वसूली में मदद मिलेगी।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned