मुख्तार अंसारी का होटल गिराए जाने के बाद छलका सांसद अफज़ाल अंसारी का दर्द, कहा गज़ीपुर की हार का बदला ले रही योगी सरकार

  • मीडिया में आए अफजाल अंसारी के बयान में योगी सरकार पर आरोप
  • राजनीतिक प्रतिशोध के तहक कार्रवाई करने लगाय गया है आरोप

गाजीपुर. योगी सरकार ने जेल में बंद बाहुबली मुख्तार अंसारी की पत्नी और बेटों के नाम गाजीपुर में बने आलीशान 'गजल होटल’ को जमींदोज कर मलबे में तब्दील कर दिया। होटल गिराए जाने के बाद अफजाल अंसारी ने इसे अपने परिवार के खिलाफ राजनीतिक बदले के तहत की गई राजनीति बताया है। अफजाल अंसारी ने मीडिया केा दिये बयान में कहा है कि सूबे की योगी सरकार उनके परिवार के खिलाफ राजनीतिक बदले की भावना से काम कर रही है। उनका आरोप है कि भाजपा सरकार 2019 के लोकसभा चुनाव में मिली हार का बदला ले रही है।

 

पैतृक जिले में अंसारी परिवार की पहचान कहे जाने वाले 'गजल होटल’ के टूटने के बाद अफजाल अंसारी इससे आहत हैं। उनका आरोप है कि उनके खिलाफ राजनीतिक बदले की भावना से कार्रवाइ हो रही है। निर्भया के अपराधियों तक को स्थानीय से लेकर उच्चतम न्यायालय तक में अपील करने का मौका मिला था। पर योगी सरकार संवैधानिक परंपराओं और कानूनों को ताक पर रखकर अंसारी परिवार के खिलाफ कार्रवाई कर रही है। उन्होंने गाजीपुर में होटल गिराए जाने को राजनीतिक प्रतिशोध की ताजा कड़ी बताया है।

 

मीडिया में आए उनके बयान के मुताबिक उनके भाई मुख्तार अंसारी समेत परिवार के दूसरे लोगों के खिलाफ साजिश के तहत कार्रवाई की जा रही है। अपने 40 साल के राजनैतिक करियर में किसी सरकार को कभी ऐसी बदले की भावना से काम करते नहीं देखा। उनका आरोप है कि जनता से जुड़े मुद्दों से ध्यान भटकाने और अपनी नाकामियां छिपाने के लिये योगी सरकार ये सब कर रही है।

 

बताते चलें कि जब से मुख्तार अंसारी उनके परिवार व करीबियों पर योगी सरकार ने कार्रवाइयां शुरू की हैं, उसके बाद से अब तक यह पहली बार है जब अफजाल अंसारी ने इसपर अपनी प्रतिक्रिया दी है। मुख्तार अंसारी की पत्नी, दोनों बेटों और दो सालों पर ईनाम घोषित कर दिया गया है तो अफजाल अंसारी की पत्नी पर भी 'निष्क्रांत सम्पत्ति' (ऐसी संपत्ति जिसका स्‍वामी उसे छोड़कर विदेश चला गया हो) पर अवैध कब्जे के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया। पुलिस मुख्तार अंसारी को भी पंजाब के रोपड़ जेल से यूपी लाने की कोशिश में जुटी हुई है, लेकिन अभी सफलता नहीं मिल सकी है।

Show More
रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned