हैवान बना जीजा, साली पर था अवैध संबंध का शक, उठाया यह खौफनाक कदम

गाजीपुर के चर्चित अलीशा हत्याकांड का पुलिस ने किया खुलासा।

गाजीपुर . यूपी के गाजीपुर में अलीशा इरफान की बेरहमी से हुई हत्या का खुलासा हो गया है। हत्यारा कोई और नहीं बल्कि उसका जीजा इमाम अहमद ही निकला। इमाम ने बेरहमी से अलीशा की हत्या कर उसके चेहरे को धारदार हथियार से क्षतविक्षत कर दिया। शव पहचान में भी नहीं आ रहा था। पुलिस ने काफी जांच-पड़ताल के बाद हवा में ही कड़ियां जोड़ीं तो वह जुड़ती चली गयीं और उसका एक सिरा अलीशा के जीजा इमाम अहमद तक पहुंचा। पूछताछ में वह टूट गया और कबूल कर लिया कि उसने ही अलीशा का कत्ल किया था। उसकी निशानदेही पर कत्ल में इस्तेमाल किया गया धारदार हथियार और मृतका का चप्पल, बैग व मोबाइल भी बरामद हो गया। सुखराम महाविद्यालय की बीटीसी की छात्रा अलीशा इरफान का शव शनिवार को बिरनो थानाक्षेत्र के महमूदपुर ढेबुआं में झाड़ियों में मिला था।

शनिवार को पुलिस ने मामले का खुलासा कर दिया। एसपी डॉ. अरविंद चतुर्वेदी के मुताबिक गाजीपुर के भांवरकोल थानाक्षेत्र के पखनपुरा गांव निवासी इमाम अहमद गाजीपुर के मुस्तफाबाद मुहल्ला निवासी अपनी साली अलीशा इरफान को बाइक से आजमगढ़ होते हुए अंबेडकर नगर स्थित किछौंछा शरीफ ले गया। वापसी में लौटते समय बिरनो थानाक्षेत्र के महमूदपुर ढेबुआं गांव में जीजा बाइक रोककर लघुशंका के लिये चला गया। इसी दौरान उसने अपने बैग में रखे धारदार हथियार से अलीशा पर पीछे से वार कर दिया। जब वह गिर गयी तो उसे पास ही झाड़ियों में ले गया। हत्या करने के बाद उसका चेहरा क्षत विक्षत कर दिया।

शनिवार की सुबह ग्रामीणों ने शव देखकर पुलिस को खबर दी। शव पहचान में नहीं आ रहा था तो पुलिस ने सोशल मीडिया पर इसे शिनाख्त के लिये वायरल कर दिया। उधर शुक्रवार की देर शाम अलीशा के घर न पहुंचने पर उसके परिवार वाले गाजीपुर कोतवाली में गुमशुदगी की तहरीर दे चुके थे। पुलिस ने परिजनों को पहचान के लिये बुलाया तो घरवालों ने कपड़े और हाथ के कड़े से शिनाख्त कर लिया।

हालांकि पुलिस के लिये हत्या अब भी पहेली बनी हुई थी। पुलिस ने सभी दोस्तों और रिश्तेदारों से पूछताछ की। इसी बीच पता चला कि जिस दिन अलीशा की हत्या हुई उस दिन उसका बीटीसी कॉलेज बंद था। वह अपने जीजा की बात मानती थी, सो पुलिस ने उसे उठा लिया। थाने में कड़ाई से पूछताछ हुई तो जीजा टूट गया और उसने कबूल कर लिया कि कत्ल उसी ने किया था। पहचान मिटाने के लिये उसने चेहरा खराब कर दिया था। जीजा ही कत्ल के बाद मोबाइल, बैग और चप्पल तक अपने साथ ले गया था। उसने वहां रुककर एक लोअर खरीदी और कत्ल के समय पहनी गयी अपनी पैंट वहीं झाड़ियों में फेक दी। दोनों का मोबाइल लोकेशन भी उसी जगह मिला और कुछ सीसीटीवी फुटेज में भी दोनों साथ दिखे हैं।

पुलिस के मुताबिक जीजा ने यह कत्ल साली के अवैध संबंधों के शक में किया। उधर आरोपी जीजा ने भी दावा किया कि उसकी साली के किसी से अवैध संबंध थे और वह मना करने पर भी मान नहीं रही थी। इसलिये उसने उसका कत्ल कर दिया। पुलिस ने जीजा की निशानदेही पर पखनपुरा से कत्ल में इस्तेमाल किया गया धारदार हथिार, अलीशा का पर्स और मोबाइल बरामद कर दिया।

By Alok Tripathi

रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned