UP के सत्ताधारी विधायक का बयान, अत्याचार बंद कर दें, नहीं लगेगा SC ST एक्ट

UP के सत्ताधारी विधायक का बयान, अत्याचार बंद कर दें, नहीं लगेगा SC ST एक्ट

Rafatuddin Faridi | Publish: Sep, 06 2018 08:53:37 PM (IST) | Updated: Sep, 06 2018 09:46:27 PM (IST) Ghazipur, Uttar Pradesh, India

गाजीपुर के जखनियां से सहयोगी पार्टी सुभासपा के विधायक त्रिवेणी राम का बयान।

गाजीपुर. एससी एसटी एक्ट को लेकर सुप्रीम कोर्ट से आए फैसले के बाद केन्द्र सरकार ने आदेश के खिलाफ बिल लाकर फैसले को पलट दिया। इस बिल के लागू होने के बाद से लगातार इसका विरोध हो रहा है और भाजपा सरकार को इसका दोहरा नुकसान झेलना पड़ रहा है। एक तरफ उसके के अपने कई सांसद इसको लेकर मुखर हो रहे हैं तो दूसरी ओर भाजपा का वोटर कहा जाने वाला सवर्ण समाज इसके खिलाफ सड़कों पर उतार आया है।

 

एससी एसटी एक्ट को लेकर उदित राज ने तो टि्वट कर यहां तक कह दिया कि ‘हमलोग (अनुसूचित जाति समुदाय) वर्षों से इस आक्रोश, भय और सनक को सहते आ रहे हैं। लेकिन, अब SC समाज न तो डरेगा और न ही झुकेगा, बल्कि मुकाबला करेगा।’ अब भारत बंद और एससी एसटी एक्ट को लेकर यूपी में बीजेपी की सहयोगी पार्टी के विधायक ने भी बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि लोग गरीबों और दलितों पर अत्याचार बरना बंद कर दें, एससी एसटी एक्ट नहीं लगेगा।

 

 

यह विधायक कोई और नहीं बल्कि उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सहयोगी और सरकार के कैबिनेट मंत्री ओम प्राकश राजभर की पार्टी सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के जखनियां विधायक त्रिवेणी राम हैं। त्रिवेणी राम 2017 के विधानसभा चुनाव के पहले बसपा छोड़कर सुभासपा में आए थे। इसके पहले भी त्रिवेणी राम कई विवादित बयान दे चुके हैं।

 

भारत बंद के दौरान जब त्रिवेणी राम से पूछा गया तो उन्होंने साफ कहा कि वो उसी वर्ग से विधायक हैं और ग्रामीण परिवेश से आते हैं। कहा कि एससी एसटी एक्ट जरूर लगना चाहिये, पर उस व्यक्ति के खिलाफ ही लगना चाहिये जो दोषी हो। प्राय: ऐसा भी देखा जाता है कि उसमें पूरे परिवार को घसीट दिया जाता है। यह गलत है। यह एक्ट जांच करने के बाद ही लगना चाहिये। उनसे जब यह पूछा सवाल किया गया तो उन्होंने साफ कहा कि वह भारत बंद कर समर्थन करते हैं। पर जब आगे यह सवाल किया गया कि क्या एससी एसटी एक्ट लगना चाहिये ? तो इस पर उनका जवाब था कि लोग गरीबों और दलितों पर अतयाचार करना बंद कर दें एससी एसटी एक्ट नहीं लगेगा।

By Alok Tripathi

Ad Block is Banned