एक दिन में ही बार-बार फीस लेता है ये डाक्टर, मरीजों को देता है प्रतिबंधित दवाइयां

शिकायतकर्ता ने दस्तावेजों के साथ दिये पत्र में आरोपी डाक्टर के खिलाफ जिलाधिकारी से कार्रवाई की मांग किया है

By: Ashish Shukla

Published: 20 Jul 2018, 06:38 PM IST

Ghazipur, Uttar Pradesh, India

ग़ाज़ीपुर. जिलाधिकारी के जनता दरबार एक अजीब मामला सामने आया है। जिलाधिकारी के जिलाधिकारी को दिये शिकायत में चन्द्रेस्वर प्रसाद सिंह नाम के एक शिकायतकर्ता ने एक डाक्टर पर इलाज देखेने के एवज में अवैध फीस लेने का आरोप साथ ही मराजों को प्रतिबंधित दवाईयां देने की शिकायत किया है। शिकायतकर्ता ने दस्तावेजों के साथ दिये पत्र में आरोपी डाक्टर के खिलाफ जिलाधिकारी से कार्रवाई की मांग किया है।

जिलाधिकारी के पास पहुँचे शिकायतकर्ता का कहना है कि वो अपनी पत्नी का इलाज डॉक्टर बावन दास से कराता है । जिसके एवज में डॉ प्रत्येक बार इससे 200 रूपये की फीस भी लेते है और दवा भी अपने ही नर्सिंग होम से देते है।

शिकायतकर्ता की पत्नी की इलाज के बाद जो दवा डॉक्टर द्वारा लिखी गई वह दवा भी इनके नर्सिंग होम से ही दी गयी। जब शिकायतकर्ता दवा लेकर घर पहुंचा और दवा को देखा तो उसमें से एक सीरप जिसकी कीमत 125 रुपया डॉक्टर द्वारा ली गयी थी और बिल भी दी गयी थी जिसमे सिरप पर अंकित बैच नंबर भी बिल पर पड़ा है जब शिकायतकर्ता ने दवाओं को घर पर देखा तो ये दवा सैंपल की थी और उसपर साफ साफ नॉट फ़ॉर सेल लिखा हुआ था। इसके बाद शिकायतकर्ता ने इसकी शिकायत जिलाधिकारी से किया। किस तरह से डॉक्टर आम जन को लूट रहे है। इसके लिए शिकायतकर्ता ने जिलाधिकारी को अपने पत्र के साथ एफिडेविट तक दिया है।

जब इस मामले पर आरोपी डॉक्टर से जानने का प्रयास किया गया तो उनका कहना है कि उन्हें बदनाम करने के लिए इस तरह का काम किया जा रहा है। क्योंकि बिल में बैच नंबर अंकित होता है। वही इस मामले पर जिलाधिकारी ने बताया कि एडीएम और ड्रग इंस्पेक्टर को इस मामले की जांच सौंपी गई है। जांच रिपोर्ट आने पर कारवाई की जाएगी।

input by- alok tripathi

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned