स्वास्थ्य विभाग ने ग्रामीणों में बांटी एक्सपायर दवाएं, मचा कोहराम

 स्वास्थ्य विभाग ने ग्रामीणों में बांटी एक्सपायर दवाएं, मचा कोहराम
Medicinea

स्वास्थ्य विभाग की चूक या लापरवाही,  एक्सपायरी दवा खाने से मरीजों की बढ़ी परेशानियां

गाजीपुर. रेवतीपुर ब्लाक में आई बाढ के बाद अब लोगों में डायरिया, महामारी आदि संक्रमित रोगों का भय सताने लगी है। जिसके मद्देनजर स्वास्थ्य विभाग की टीम को जिला प्रशासन द्वारा सक्रिय कराया जा रहा है। ताकि बाढ़ की पानी से ग्रामीणों में किसी भी प्रकार की महामारी आदि बीमारियों से पहले ही निपटा जा सके। 


लेकिन स्वास्थ्य विभाग की टीम का बहुत बड़ी चुक कहे या लापरवाही देखने को मिली। जहां एक तरफ ग्रामीणों को स्वस्थ्य रखने के लिए क्लोरीन, कैलेशियम, आयरन, ओ आर एस, जिंक, एलर्जी कि दवा, एन्टीबायो-टिक्स, लीवर टानिक आदि जैसे दवाओं का खुद धड़ल्ले से वितरण किया जा रहा है। तो वहीं दूसरी तरफ स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही के चलते ग्रामीणों में एक्सपायरी डेट की सभी दवाओं का वितरण किया जा रहै है। इसका खुलासा तब हुई जब कैमरा टीम सुहवल थाना इलाके के युवराजपुर गांव में पहुंची। जहां स्वास्थ्य विभाग द्वारा जो दवाएं ग्रामीणों में बांटी गई है वो सभी दवाएं एक्सपायरी डेट की है।

Medicine

 जिसका सेवन कुछ ग्रामीणों ने किया तो फायदा के बजाय कुछ लोगों को उल्टी, दस्त, पेट दर्द, चक्कर आना, आदि शुरू हो गया। जिसके बाद ग्रामीण पहले तो समझा कि भीषण गर्मी के चलते कहीं इसका असर तो नहीं है लेकिन जब लोगों कि नजर दवाओं पर पडी तो उसे देखते ही उनके होश फाख्ता हो गये । कारण की स्वास्थ्य विभाग द्वारा वितरण की गई वो सभी दवाएं पूरी की पूरी एक्पायरी डेट की रही। दवाओं के एक्पायरी डेट देख पूरे गाँव में हडकंम्प मच गया । जिसके बाद ग्रामीणों द्वारा अपने-अपने घरों में रखे दवाओं को तत्काल पानी व गड्ठो में फेकना शुरू कर दिया । 




जब इस बात कि जानकारी युवराजपुर प्रधान प्रतिनिधि चुनमुन सिंह को हुयी तो वह बचे हुये एक्सपायर दवाओं को लेकर ग्रामीणों संग सीधे जिलाधिकारी के यहां पहुंचे व उन्हें पूरी घटना की जानकारी दी। जिलाधिकारी के सामने ग्रामीणों द्वारा पेश किए गए एक्सपायर  दवाओं को देखते ही जिलाधिकारी के भी होश उड़ गए। जिसके बाद जिलाधिकारी संजय कुमार खत्री ने कुछ दवाओं को अपने पास रख लिया व तुरन्त फोन के माध्यम से पूरी घटना के बारे में मुख्यचिकित्साधिकारी डाक्टर धर्मात्मा त्रिपाठी को जानकारी देते हुए अपने पास तलब किया । साथ दूसरी दवायें देने के साथ ही इस मामले की पूरी जांच कर तुरन्त रिपोर्ट देने का सीएमओँ को निर्देश दिया । जिसके बाद ग्रामीणों में बांटी गई एक्सपायरी डेट की दवांओं की जानकारी होते ही सीएमओं समेत पूरे स्वास्थ्य विभाग में अफरातफरी मच गई।  




वहीं स्थानीय ग्रामीणों पयूष दूबे, हंसलाल, मिश्री कन्नौजियां,शिवमुनी यादव, बलबीर सिंह, सीता देवी, सविता देवी, अरबिन्द सिंह आदि आक्रोशित लोगों ने बताया कि अभी तक विभाग ने यह जानने कि कोशिश तक नहीं किया कि यह दवाओं का वितरण में कौन दोषी है। लोगों का यहां तक कहना है कि बाढ के पानी के घटने के बाद विभिन्न प्रभावित गावों में सरकार ने इस गंदगी से होने वाले किसी तरह के संक्रामक विमारियों से निपटने को लेकर एक कारगर रणनीति बनायी जो विभाग के कर्मचारियों की लापरवाही के चलते उसका सही सदुपयोग होने के बजाय सडे, गले व महीनों से एक्सपायर दवाओं का ही वितरण कर लोगों के जीवन से खुलेआम खिलवाड़ किया जा रहा है । 




वहीं दवाओं के वितरण के नाम पर महज कोरम पूरा कर अपनी इतिश्री कर रहे है। फिलहाल एक्सपायरी डेट की दवाओँ के वितरण में कहीं न कहीं विभाग के उच्चाधिकारियों की भी साफ लापरवाही देखने को मिल रही है। ग्राणीणों की मांग है कि मामले की जांचकर दोषियो के खिलाफ सख्त कार्यवाही कि जाय । वहीं जब इस मामले में मुख्यचित्साधिकारी डाक्टर धर्मात्मा त्रिपाठी से संम्पर्क किया तो यह कहकर फोन काट दिये कि अभी टेंशन में है । 




लेकिन जब इस बाबत जिलाधिकारी संजय खत्री से जानकारी ली गई तो उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग की टीम को बाढ़ से होने वाले खतरे के लिए अलर्ट किया गया है। लेकिन बाढ प्रभावित गांव युवराजपुर में एक्सपायर दवाओं का ही वितरण किया गया है ये माला मेरें संज्ञान में है यह काफी गंभीर विषय है इसकी जांच के लिए टीमें गठित कर दी गयी है व जांच रिपोर्ट दो दिन के अन्दर देने का निर्देश मुख्यचित्साधिकारी को दिया गया है। रिपोर्ट प्राप्त होते ही इसमें जो भी दोषी पाया जायेगा उसके खिलाफ सख्त विभागीय व कानूनी कार्यवाही किया जायेगा ।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned