मंत्री ओमप्रकाश राजभर का धरना स्थगित, सीएम योगी आदित्यनाथ ने दिया यह आश्वासन

मंत्री ओमप्रकाश राजभर का धरना स्थगित, सीएम योगी आदित्यनाथ ने दिया यह आश्वासन
Omprakash Rajbhar

भासपा नेताओं के अनुसार सीएम योगी आदित्यनाथ ने 19 मांगों में से 17 मांगें मानीं

गाजीपुर. चार जुलाई को गाजीपुर में मंत्री ओमप्रकाश राजभर और भासपा नेताओं का धरना स्थगित कर दिया गया है। मंत्री ओमप्रकाश राजभर और भासपा विधायक टी. राम ने जिलाधिकारी के खिलाफ धरने पर बैठने का ऐलान किया था। सोमवार को लखनऊ में सीएम योगी आदित्यनाथ और ओमप्रकाश राजभर की मुलाकात के बाद धरना खत्म करने का फैसला हुआ।  

मंत्री ओमप्रकाश राजभर और भासपा नेता पिछले कई दिनों से गाजीपुर के जिलाधिकारी संजय कुमार खत्री के खिलाफ मोर्चा खोले हुए थे। भासपा नेताओं के अनुसार सीएम योगी आदित्यनाथ ने 19 मांगों में से 17 मांगें मान ली है और जिलाधिकारी के हटाने को लेकर भी जल्द ही फैसला होगा। धरने की खबर के बाद सूबे में राजनीतिक सरगर्मी बढ़ गई थी।


यह भी पढ़ें:

योगी सरकार के खिलाफ सहयोगी दल ने खोला मोर्चा, मंत्री और विधायक बैठेंगे धरने पर


दरअसल इस मामले की शुरूआत तब हुई थी, जब मंत्री ओमप्रकाश राजभर के प्रतिनिधि रामजी राजभर और उसके भाई ने जमीन की नापी करने गए कानूनगो और लेखपाल की पिटाई व गाली गलौज किया था, जिसके बाद पीड़ित ने थाने में तहरीर दिया लेकिन भासपा के नेता अपने रसूख से मुकदमा दर्ज नही होने दे रहे थे।मगर जिलाधिकारी के दखल के बाद मुकदमा दर्ज हुआ।



मंत्री के प्रतिनिधि रामजी राजभर जिलाधिकारी पर दबाव बनाकर मुकदमा वापस कराना चाहा, मगर मुकदमा वापस नहीं हुआ। जिलाधिकारी जब इनके दवाब में नही आए तो फिर इन लोगों ने जिलाधिकारी के खिलाफ ही मोर्चा खोल दिया और चार जुलाई को धरना देने की घोषणा की। भासपा नेताओं पर जिला प्रशासन पर गरीबों के हितों की अनदेखी करने का भी आरोप लगाया था।





खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned