केंद्रीय मंत्री मनोज सिन्हा ने व्यापारियों से किया सीधा संवाद, कहा- जल्द बेहतर होगी कानून- व्यवस्था

 केंद्रीय मंत्री मनोज सिन्हा ने व्यापारियों से  किया सीधा संवाद, कहा- जल्द बेहतर होगी कानून- व्यवस्था
Union Minister Manoj Sinha

कार्यक्रम के दौरान अपनी सुरक्षा को व्यवसायियों ने लगाई गुहार, केंद्रीय मंत्री ने कहा- जीएसटी मोदी सरकार की ऐतिहासिक उपलब्धि

गाजीपुर. प्रदेश मे इन दिनों कानून व्यवस्था को लेकर एक ओर जहां सरकार को विपक्षी दल घेर रहे हैं, वही सरकार के मंत्री भी कानून व्यवस्था मे कुछ कमी बता रहे है। 1 जुलाई से लागू होने वाले जीएसटी को लेकर भी कई तरह के डर व भ्रान्तियां अभी भी व्यापारी समाज मे है। जिसको लेकर जनपद के सांसद व भारत सरकार के रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने सर्राफा व्यवसायियों से संवाद कार्यक्रम का आयोजन कर जीएसटी से संबंधित डर निकालने पर बात किया वही कानून व्यवस्था कल्याण सिंह की सरकार की तरह बनाने की बात कही।



यह भी पढ़ें:  इस बड़े नेता ने लगाया गंभीर आरोप, यूपी में योगी को फेल करने में जुटे हैं मोदी के लोग




जनपद के सर्राफा व्यवसायियों ने जनपद के सांसद और रेल राज्यमंत्री भारत सरकार से संवाद कार्यक्रम के दौरान अपनी सुरक्षा को लेकर कानून व्यवस्था पर सवालिया निशान लगाया। इस संवाद कार्यक्रम में कई व्यवसायियों ने अपनी अपनी समस्या मंत्री के सामने रखी, जिसमें सर्राफा व्यवसायियो की आये दिन हत्या, छिनैती के साथ ही 1 जुलाई से लागू होने वाला जीएसटी बिल के संबंध मे अब तक उसका रूप रंग साफ नही होने का सवाल उठाया। इन सबका जवाब देते हुए मंत्री ने बताया की 14-15 सालों से बिगड़ी व्यवस्था है इस लिये आप सभी को थोड़ा धैर्य रखने की जरूरत है। सरकार या भाजपा कभी भी अपराधियों के साथ खड़ा नही होगी। यह भाजपा और सरकार की परीक्षा का घड़ी है। आपने कल्याण सिंह का सरकार देखा है हमे भरोसा है वैसा ही सही शासन कायम करने मे सफल होंगे। हमने अधिकारियों को निर्देश दे दिया है की अपराधियों को जहां पहुंचना चाहिये उन्हे वहां पहुंचाया जाये।






केंन्द्रीय मंत्री ने कहा कि जीएसटी से सरलीकृत व्यवस्था कुछ भी नही हो सकती। टैक्स विशेषज्ञ पिछले 16 साल से वन टैक्स लागू करने की बात उठा रहे थे। यह ऐतिहासिक उपलब्धि है। इसका विरोध सिर्फ 4 राज्य करते थे। बाकी सभी समर्थन में है। जिसमें गुजरात महाराष्ट्र व तमिलनाडु है जो मैनुफक्चरिंग मे आगे होने के चलते उन्हे डर है की उनका आय गिरेगा। इसकी भी सरकार ने व्यवस्था कर दिया है, जीएसटी के चलते डेढ़ से दो प्रतिशत आर्थिक विकास दर बढेगी।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned