आरक्षण की मांग हुई बुलंद, रेलवे ट्रैक और सड़क को किया जाम 

 आरक्षण की मांग हुई बुलंद, रेलवे ट्रैक और सड़क को किया जाम 
railway track

कई घंटे तक मची रही अफरातफरी 

गाजीपुर. आरक्षण की मांग को लेकर निषाद समाज के लोगों ने एक बार फिर अपनी आवाज को बुलंद कर फुल्लनपुर रेलवे क्रॉसिंग पर सड़क और रेलवे ट्रैक को जाम कर दिया। जाम की सूचना मिलते ही सदर एसडीएम और जीआरपी फौरन मौके पर पहुच गई। वही निषाद समाज के लोगों ने एसडीएम को पत्रक दे कर जाम समाप्त कर दिया।



एक साल पूर्व  सहजनवा के कसरवल में निषाद समाज के लिये आरक्षण की मांग को लेकर रेल रोको आन्दोलन में अखिलेश निषाद जिसकी मौत हो गयी थी और उस वक्त गोरखपुर के सांसद योगी आदित्यनाथ ने भी इस समाज के आरक्षण की पैरवी की थी लेकिन आज एक साल बीतने के बाद भी इनके आरक्षण को लेकर कोई निर्णय सरकार नहीं कर पायी जिसको लेकर गाजीपुर के फुल्लनपुर क्रॉसिंग पर इस समाज के सैकड़ों लोगों ने एक बार फिर रेलवे ट्रैक को जामकर अपनी आरक्षण की मांग को उठाया। इस दौरान करीब आधे घंटे तक रेल सेवा ठप्प रही।





जाम के कारण एक तरफ जहां बलिया वाराणसी पैसेंजर स्टेशन पर खड़ी रही वहीं दूसरी ओर सारनाथ एक्सप्रेस ट्रैक खाली होने का इंतजार करती रही। रेलवे ट्रैक जाम करने के काफी देर बाद पुलिस और जीआरपी के साथ एसडीएम सदर मौके पर पहुंचे और इनकी 11 सूत्रीय माँग पत्र लेकर शासन तक पहुंचाने का आश्वासन दिया।रेलवे ट्रैक जाम करने वालों में महिलाओं की भी संख्या काफी थी।



बता दें कि 2002 में तत्कालीन प्रदेश सरकार द्वारा 17 जातियों को अनुसूची जाति में शामिल करने के लिए केंद्र सरकार को सूची भेजी गई थी लेकिन बीएसपी सरकार के समय वो सूची वापस आ गई थी। लेकिन 2012 में चुनाव नजदीक आने के बाद बीएसपी सरकार ने पुनः उन 17 जातियों की सूची बनाकर भारत सरकार भेजी थी। लेकिन किन्ही कारणों से पुनः भारत सरकार ने वापस कर दिया था। 
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned