योगी के मंत्री के खिलाफ लोगों का धरना, इस वजह से नाराज हैं लोग

मंत्री के प्रतिनिधि और उसके भाई पर जमीन पर कब्जा करने का आरोप

गाजीपुर. कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर के खिलाफ गुरूवार को राजभर समाज के लोगों ने एक दिवसीय धरना दिया। धरना में कानूनगो नरिजन राजभर में शामिल हुये। राजभर के प्रतिनिधि और उसके भाई पर कानूनगो के साथ मारपीट करने का आरोप है। पीड़ित नरिजन राजभर ने योगी व मोदी से अपनी जमीन दिलवाने की गुहार भी लगाई है।



कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर जिन्होंने चुनाव से पूर्व राजभर समाज की राजनीति कर सत्ता के गलियारे तक पहुंचे और अब वही राजभर समाज ओमप्रकाश राजभर के काम के खिलाफ धरना दे रहे हैं। राजभर समाज के लोगों का आरोप है कि जनपद गाजीपुर सहित आसपास के जनपदों मे राजभर समाज की राजनीति करने वाले ओमप्रकाश राजभर जिन्होने चुनाव से पूर्व भाजपा से गठबंधन कर सत्ता के गलियारे तक पहुंचे लेकिन चुनाव जीतने के बाद ही अपने समाज की उपेक्षा करने लगे, यहां तक की अपने समाज के लोगो के प्रति हो रहे अत्याचार से भी उन्हे अब कोई लेना देना नही हैं।

यह भी पढ़ें:
योगी सरकार में 50 हजार आदिवासी - दलित मजदूरों के पेट पर लात


जमीन की नापी के दौरान भी अपने ही समाज के नरीजन राजभर की जमीन मंत्री के प्रतिनिधि रामजी राजभर और रामनेत राजभर जो गलत नापी हड़पना चाह रहे थे। विरोध करने पर कानूनगो की पिटाई की गई। जिसके बाद उनके प्रतिनिधि और भाई के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ था। मंत्री ने इस प्रकरण को घुमा कराकर जिलाधिकारी से जोड़ा और उनके ट्रांसफर कराने और नही होने पर इस्तीफा तक की धमकी दे डाला।  इन्हीं बातों को लेकर अखिल भारतीय राजभर संगठन एवं राजभर सुहेलदेव सेना के संयुक्त तत्वाधान मे 23 सूत्रीय मांग को लेकर धरना दिया, जिसका पत्रक मुख्यमंत्री तक भेजने की बात कही।
pm modi
Show More
अखिलेश त्रिपाठी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned