महाविद्यालय में डीएलएड छात्र- छात्राओं से हर दिन हो रही 200 रूपये की वसूली

Ashish Kumar Shukla

Publish: Jul, 13 2018 06:20:18 PM (IST)

Ghazipur, Uttar Pradesh, India

गाजीपुर. जिले के जमानियां तहसील के जमानिया लोदीपुर मोहल्ला स्थित बुद्धम शरणम महाविद्‍यालय के डीएलएड द्वितीय समेस्टर के प्रशिक्षु अध्यापक एवं अध्यापिकाओं ने शुक्रवार महाविद्‍यालय पर अवैध शुल्क लिए जाने के विरोध में महाविद्यालय से नारेबाजी करते हुए जुलूस निकाल कर एसडीएम जमानिया को पत्रक सौंपा। इस दौरान छात्र छात्राओं ने महाविद्‍यालय द्वारा अनियमित्ता बरतने का आरोप लगाते हुए एसडीएम को समस्याओं से संबंधित मांग पत्र सौंपा।

प्रशिक्षु अध्यापकों का आरोप है कि उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा पारित आदेश के अनुसार वार्षिक प्रशिक्षण शुल्क 41 हजार रूपये का डीडी जमा कराया जाता है लेकिन महाविद्‍यालय द्वारा 25 हजार रूपये अतिरिक्त सुविधा शुल्क प्रत्येक प्रशिक्षुओं से जमा कराया जाता है लेकिन सुविधा के नाम पर महाविद्‍यालय में कोई सुविधा नही है। इतना ही नहीं प्रशिक्षुओं द्वारा बिजली आदि की सुविधा मांगने पर प्रैक्टिकल में नंबर काट लेने का धमकी दी जाती है।

आरोप है कि प्रैक्टिकल की परीक्षा के लिए तीन हजार रूपये प्रशिक्षुओं से वसूला जाता है। सरकार द्वारा प्रशिक्षुओं की उपस्थिति 75 प्रतिशत अनिवार्य की गयी है। जबकि महाविद्‍यालय में इसे 80 प्रतिशत उपस्थिति मांगी जा रही है। परीक्षा फार्म भरने के नाम पर 300 रूपये‚ टीचिंग प्रमाणपत्र के नाम पर एक हजार वसूला जाता है। जिसकी रसीद भी उपलब्ध नहीं करायी जाती है। वहीं उपस्थिति कम होने अवैध धनउगाही की जाती है। उपजिलाधिकारी विनय कुमार गुप्ता ने कहा कि प्रशिक्षुओं की 6 सूत्रीय मांगो से संबंधित पत्रक प्राप्त हुआ है। जिसकी जांच कर नियमानुसार कार्यवाही की जाएगी।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned