कायस्थ महासभा के कार्यक्रम में पहुंचे सपा एमएलसी आशुतोष सिन्हा ने फिर दिया काेविड वैक्सीन पर बयान

  • अखिल भारतीय कायस्थ महासभा की ओर से गाजीपुर में आयोजित स्वागत अभिनंदन कार्यक्रम में पहुंचे थे सपा एमएलसी आशुतोष सिन्हा

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

गाजीपुर. कोरोना वैक्सीन को लेकर अपने बयान से सुर्खियां बटोरने वाल समाजवादी पार्टी के नवनिर्वाचित शिक्षक एमएलसी आशुतोष सिन्हा गाजीपुर में स्वजातीय बंधुओं के सम्मान समारोह कार्यक्रम में पहुंचे। यहां उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कार्यकाल में विकास कार्यों के ठप होने का आरोप लगाते हुए कहा कि ये सरकार केवल पिछली सरकार के कामों का फीता काटने का काम कर रही है।

 

उन्होंने मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि न सिर्फ पूर्वांचल बल्कि पूरे प्रदेश में कहीं कोर्इ काम नहीं हुआ। कहा कि मैं अपने विधान परिषद क्षेत्र के सभी आठ जिलों का लगातार दौरा कर रहा हूं, पूरी तस्वीर आर्इने की तरह साफ है। कोरोना वैक्सीनेशन से नपुंसकता का खतरा जताने वाले आशुतोष सिन्हा से मीडिया ने इसे लेकर एक बार फिर सवाल दागा गया कि क्या कोर्इ नपुंसकता का मामला सामने आया, तो इस सवाल को वो टाल गए और बात बदलते हुए कहा कि किसी भी दवा का साइड इफेक्ट हो सकता है। हालांकि साइड इफेक्ट का पता लगाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि यह पता लगाना सरकार का काम है। उन्होंने सरकार से मांग किया की गरीबों को कोरोना का टीका मुफ्त में लगना चाहिये।

 

किसान आंदोलन के मुद्दे पर कहा कि सरकार किसानों के आंदोलन के मामले फेल है। बड़ी संख्या में किसानों की शहादत हो चुकी, लेकिन सरकार के कानों पर जूं तक नहीं रेंग रही। सरकार यह किसान विरोधी सरकार है जो किसानों को दबाने का काम कर रही है।

 

आलोक श्रीवास्तव ने बातया कि हमारे समाज और हमारे कर्इ संगठनों ने मिलकर एमएलसी आशुतोष सिन्हा को सम्मानित करने का आयोजन किया। उन्होंने कहा कि हमारी लंबे समय से उपेक्षा हो रही है। कोर्इ पार्टी हमारी नहीं सुनती थी, इसलिये इस बार हम एकजुट हुए हैं तो इसका बड़ा परिणाम भी आया है। उम्मीद है कि आगे पार्टियां हमारी बात को सुनेंगी। उन्होंने कहा कि एमएलसी आशुतोष सिन्हा से यही अपेक्षा है कि जब समाज को उनकी आवश्यकता पड़े तो वो साथ देने के लिये हमेशा खड़े रहें।

रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned