...तो इसलिए मात्र 10 रूपये में बिक रही यूपी पुलिस, वीडियो वायरल

Sarveshwari Mishra | Publish: Dec, 07 2017 01:33:25 PM (IST) Ghazipur, Uttar Pradesh, India

क्षेत्राधिकारी ने कहा- सच्चाई देखने पर पुलिसकर्मी पर होगी कार्रवाई

गाजीपुर. यूपी के गाजीपुर में प्रतिबंधित रास्तों पर दिन-रात भीषण जाम और अवैध रूप से रिक्शे और गाड़ियों का आना जाना होता है। इनपर लगाम लगाने के लिए प्रत्येक चौराहों पर पुलिस और होमगार्डों को नियुक्त किया गया है। लेकिन अव्यवस्थित यातायात को नियंत्रित न करके नियुक्त यातायात पुलिस खुलेआम वसूली करते नजर आ रहे हैं। भीषण जाम और उसकी वजह इनके लिए कोई मायने नहीं रखते मायने रखती है तो सड़क पर चलने वाले वाहन स्वामियों से होने वाली काली कमाई।

 


बतादें कि गाजीपुर में प्रत्येक चौराहों पर पुलिस और होमगार्डों की समुचित व्यवस्था होने के बावजूद भी खुलेआम नो एंट्री वाले रास्तों पर ऐसे तमाम वाहनों को देखा जा सकता है। जो पूरी की पूरी यातायात व्यवस्था को ध्वस्त करती नजर आती है। इसकी सच्चाई गाजीपुर में देखने को मिली जब सुरक्षा अधिकारी वाहन स्वामियों के चंद रुपये में बिकते नजर आए। कोतवाली थाना के मात्र 100 मीटर बाहर की सड़कों पर खुलेआम अवैध रूप से रिक्शों का आना जाना लगा रहता है। जिससे स्थानीय और ईमानदारी से यातायात के नियमों का पालन करने वालों को भारी मुसीबत का सामना करना पड़ता है । वहीं प्रशासन चंद रुपयों की खनक के आगे कानून को गिरवी रख देता है।

 


सोशल मीडिया पर आज कोतवाली से चंद कदम की दूरी पर पुलिस कर्मी ने ई रिक्शा के से खुलेआम वसूली और दूसरी तरफ कोतवाली के सामने लगा लम्बा जैम लेकिन पुलिस नदारद का विसुअल वायरल हो रहा है। पुलिस के द्वारा इस तरह के वसूली किए जाने पर ई रिक्शा चालक महेंद्र ने बताया कि पुलिस वालों का यह रोज का काम है बिना 10 रूपये लिए जाने नहीं देते हैं, जिस दिन हम लोग नहीं देते हैं दूसरे रास्ते से भेज देते हैं।

 


क्षेत्राधिकारी ने कहा- सच्चाई देखने पर पुलिसकर्मी पर होगी कार्रवाई
वही इस वीडियो के बारे में क्षेत्राधिकारी से जानना चाहा तो उनका कहना है कि वो अभी तक वीडियो नहीं देखे हैं। वीडियो देखने के बाद पुलिस कर्मी को चिन्हित कर कार्रवाई किया जाएगा।

 

By-Alok Tripathi, Ghazipur

Ad Block is Banned