घने कोहरे में रेलवे ट्रैक पर ट्रक की चपेट में आने से महिला की मौत, लोगों ने लगाया जाम

रेलवे ट्रैक पर बड़ा हादसा होने से टला

By: sarveshwari Mishra

Published: 10 Nov 2017, 03:04 PM IST

गाजीपुर. मौसम में फैले स्मॉग ने कहीं जिंदगी की रफ्तार को रोक दिया है स्मॉग की चादर में लिपटे रास्तों पर हादसों ने अपना कहर बरपाना शुरू कर दिया। मौसम का मिजाज जैसे जैसे बदल रहा है वैसे हादसों में भी इजाफा हो रहा है। ऐसा ही एक हादसा गाजीपुर जिले के दुल्लहपुर थाना क्षेत्र के रेलवे फाटक पर होते होते रह गया। ट्रेन के आने से पहले रेलवे फाटक बंद था लेकिन कोहरे के वजह से रोड पर आ रही ट्रक को रेलवे फाटक बंद होने का अंदाजा नहीं लगा और ट्रक रेलवे फाटक तोड़ते हुए ट्रक रेलवे ट्रैक पर आ गया। जिससे उधर से गुजर रहे दो लोग ट्रक की चपेट में आ गए जिसमें एक की मौत हो गई। जबकि दूसरा गम्भीर रूप से घायल हो गया।

 

 

घटना की वजह से पैसेंजर और माल गाड़ी घंटों खड़ी रही। घटना के बाद ग्रामीणों ने सड़क पर शव रखकर आजमगढ़ - गाजीपुर मार्ग जाम कर दिया।

 

 

 

 

बतादें कि दुल्लहपुर थाना इलाके में कोहरे का कहर देखने को मिला दुल्लहपुर रेलवे फाटक पर आज सुबह पैसेंजर और माल गाड़ी के गुजरने का समय था। जिसके लिए रेलवे के गेटमैन ने रेलवे फाटक को बंद कर दिया था। रेलवे फाटक बंद होने के बाद फाटक पर एक ट्रक खड़ी थी उसी दौरान कोहरे की वजह से उस खड़ी ट्रक में पीछे से दूसरी ट्रक ने जोरदार टक्कर मार दी। ट्रक के जोरदार टक्कर से आगे खड़ी ट्रक दो लोगो को रौदते हुए रेल फाटक तोड़कर दूसरी रेल पटरी पर जाकर रुक गई। जिसमें दो लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। दोनों घायलों में से एक कि मौत हो गई। जबकि गंभीर रूप से घायल का जिला अस्पताल में इलाज चल रहा है। वहीं घटना के दौरान भीड़ ने ट्रक चालक की जमकर धुनाई के बाद ट्रक को क्षतिग्रस्त कर दिया । वहीं घटना के 40 मिनट बाद पुलिस पहुंची।

 

 

 

 

इस दौरान डेढ़ घण्टे रेल जाम रहा डाउन आउटर सिग्नल पर मालगाड़ी खड़ी हुई पैसेंजर ट्रेन खड़ी हुई तथा अन्य ट्रेनों को स्टेशन पर खड़ा किया गया था । वहीं घटना के कुछ देर बाद ग्रामीणों ने गाजीपुर आजमगढ़ राज मार्ग पर शव रखकर जाम कर लगा दिया। इस दौरान राहत की बात यह है कि रेलवे लाइन पर दोनों तरफ से ट्रेनों को आने की हरी झंडी मिल चुकी थी लेकिन हादसा होने के बाद गेटमैन ने तत्काल सतर्कता बरतें हुए मालगाड़ी और पैसेंजर ट्रेन को जहां थी वहीं आउटर पर खड़ा करा दिया वरना आज एक बड़ा हादसा हो सकता था।

sarveshwari Mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned