सिर में लगी थी चोट, डॉक्टरों ने कर दिया पेट का ऑपरेशन, महिला की मौत 

 सिर में लगी थी चोट, डॉक्टरों ने कर दिया पेट का ऑपरेशन, महिला की मौत 

परिजनों ने पेट का ऑपरेशन कर शरीर का अंग निकालने का भी लगाया आरोप, कब्र से निकाला गया महिला का शव 

गाजीपुर. धरती पर डॉक्टरों को भगवान का दर्जा प्राप्त है, मगर मऊ जिले में डॉक्टरों ने अपने पेशे को कलंकित करते हुए ऐसा काम किया है, जिसे जानकर आपको डॉक्टरों पर से विश्वास उठ जाएगा। डॉक्टरों ने सड़क हादसे में घायल महिला के ऑपरेशन के दौरान बड़ी लापरवाही की। डॉक्टरों ने सर में लगी चोट की जगह मरीज के पेट का ऑपरेशन कर दिया। जिसके बाद महिला की मौत हो गई। परिजनों ने पेट का ऑपरेशन कर शरीर का अंग निकालने
का भी आरोप लगाया है।

जंगीपुर थाना के सआदतपुर गांव की अमिरून निशा जो अपने परिवार के किसी के साथ 29 जून को बाइक से कहीं जा रही थी तभी बाइक का एक्सीडेंट हो गया और इसके सर में गंभीर चोट आ गयी जिसके बाद उसे पहले जिला अस्पताल और बाद में परिजन मऊ जनपद के प्रकाश हॉस्पीटल एवं ट्रामा सेंटर में 30 जून को ले गये। जहां पर डॉक्टरों ने महिला के सर का ऑपरेशन कर आईसीयू में भर्ती कर दिया।

यह भी पढ़ें:

चार पहिया वाहन पर बीजेपी का झंडा लगा कर हाइवे पर करते थे लूटपाट


आईसीयू में रहने के दौरान महिला से किसी परिजन को मिलने की इजाजत नहीं थी। 17 दिन बीत जाने के बाद भी जब कोई सुधार नहीं हुआ तो परिजनों ने वहां का करीब डेढ़ लाख का बिल अपने खेत को गिरवी रख कर चुकाया और फिर बीएचयू के लिये उसे रेफर कराया। वाराणसी जाते समय महिला की रास्ते में ही मौत हो गयी। परिजन उसे लेकर घर आये और 18 जुलाई को कब्र खुदवा महिला को सुपूर्दे खाक की तैयारी करने लगे।




मृत महिला को स्नान कराये जाने की प्रक्रिया के दौरान जब महिलांओं ने कपड़ा हटाया तो पेट में दाहिने तरफ ऑपरेशन के बाद करीब 10 से उपर टांके लगे देखे और इसकी जानकारी परिवार के पुरूषों को दी जिसके बाद सबका माथा ठनका और वे तत्काल जंगीपुर थाने पहुंच इसकी सूचना पुलिस को दी लेकिन पुलिस ने मउ जनपद की घटना बताकर उन्हें थाने से वापस कर दिया। परिजन उसके बाद शव को सुपूर्दे खाक कर घर वापस चले गये। परिजनों को आशंका है कि उक्त अस्पताल के डॉक्टरों ने पेट में आपरेशन कर किडनी सहित कई अंग जिसकी तस्करी की जाती है निकाल लिया है क्योंकि 17 दिन के दौरान डॉक्टरों ने पेट के आपरेशन के सम्बंध में कोई बात नहीं बतायी।


इस घटना की जानकारी जब मीडिया को हुई तो मीडिया ने इसमें पहल करते हुये इस बात की जानकारी जिलाधिकारी को दी। जिलाधिकारी ने इसपर कार्यवाही करते हुये शव को मजिस्ट्रेट की निगरानी में वीडियोग्राफी के साथ कब्र से निकालकर पोस्टमार्टम कराने का आदेश दिया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई करने की बात जिलाधिकारी ने कहा।
Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned