15 साल से छिपकर चट कर रहे थे हमारी हरियाली, छापेमारी हुई तो हुए फरार, लाखों का कीमती सामान बरामद

वन विभाग ने छापेमारी में शामिल सभी कर्मियों का मोबाइल फोन जब्त कर लिया ताकि वनों की अवैध कटाई करनेवाले धंधेबाज को छापेमारी की सूचना लीक न हो जाए (Raid In Giridih Forest For Seized Illegal Cutting Plant) (Jharkhand News) (Giridih News)...

 

By: Prateek

Published: 18 Jun 2020, 03:18 PM IST

गिरिडीह: मनुष्य के लिए पेड़—पौधों का होना उसी तरह आवश्यक है जितना खाना या पानी। जैव विविधतता को बरकरार रखने के लिए जंगलों का अस्तित्व जरूरी है। लेकिन थोड़े से फायदे के लिए कुछ लोग जंगलों की अवैध कटाई कर पूरी मानव जाति को खतरे में डाल देते हैं। इसी अवैध कटाई को रोकने के लिए झारखंड के गिरिडीह जिले में वन विभाग ने बड़ी छापेमारी की है।

यह भी पढ़ें: UNSC: निर्विरोध अस्थायी सदस्य बनने पर पीएम मोदी ने कहा - वैश्विक शांति और सुरक्षा के लिए करेंगे काम

मिली जानकारी के अनुसार जिले के सरिया प्रखंड में वन विभाग एवं पुलिस ने 4 गांवो में छापेमारी की। इस दौरान अवैध रूप से संचालित 4 आरा मीलों को पकड़ा गया। खास बात यह है कि लगभग पांच लाख रुपए की कीमती लकड़ियां जब्त की गई है। इन जब्त लकड़ियों को छः ट्रैक्टरों में लाद कर सरिया वन विभाग परिसर तक लाया गया।

यह भी पढ़ें: Sushant Singh की मौत पर आज होगी पहली सुनवाई, बॉलीवुड हस्तियों पर सुसाइड करने लिए उकसाने का आरोप

एसीएफ सह रेंजर अभय कुमार सिन्हा ने बताया कि गुप्त सूचना के आधार पर कोयरीडीह के गौरी शंकर प्रसाद, मायापुर के महेंद्र वर्मा, पूर्णिडीह के जागेश्वर वर्मा एवं खैराघाट के मोतीलाल मरांडी के अवैध आरा मिलो में छापेमारी की गई। जिसमें आरा मशीनों को उखाड़ दिया गया। इस क्रम में चार हाथी मशीन एक जेनरेटर, एक ट्रॉली जब्त की गई। साथ ही भारी मात्रा में शीशम, शाल, कटहल, अकेशिया एवं यूकोलिप्टस की लकड़ियां जब्त की गई हैं।

यह भी पढ़ें: Coronavirus Outbreak: पहली बार जानवर से इंसान में पहुंचा वायरस, डेनमार्क में मारे जाएंगे 11,000 मिंक

अवैध आरा मील संचालक भागने में सफल रहे हैं। नक्सल प्रभावित इन इलाकों में बीते 15 वर्षो से अवैध आरा मील संचालित था। वन विभाग ने छापेमारी में शामिल सभी कर्मियों का मोबाइल फोन जब्त कर लिया ताकि वनों की अवैध कटाई करनेवाले धंधेबाज को छापेमारी की सूचना लीक न हो जाए।


झारखंड की ताजा ख़बरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें...

Prateek Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned