बैंक से ऋण लेना दो लाभार्थियों को महंगा पड़

बैंक से ऋण लेना दो लाभार्थियों को महंगा पड़
Fraud

Abhishek Gupta | Publish: Jun, 11 2016 11:26:00 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

भुगतान कम और पास बुक भुगतान दिखाया ज्यादा

गोंडा। व्यवसाय के लिए बैंक से ऋण लेना दो लाभार्थियों को महंगा पड़ गया। बैंक ने उन्हें भुगतान कम दिया और पासबुक पर पूरे ऋण का भुगतान दिखा दिया। विकास खंड हलधरमऊ अंर्तगत ग्राम भोंका डीहा निवासी छोटका पत्नी मुमताज, फातिमा पत्नी ननकू ने एसडीएम व डीएम को प्रार्थना पत्र दिया है। जिसमें छोटका द्वारा कहा गया है कि वह अनपढ़ है। सर्वयूपी ग्रामीण बैंक चैरी में उसने मुर्गी पालन हेतु एक लाख रुपये का ऋण स्वीकृत करवाया था। उसे प्रथम किस्त के रुप में 24000 व द्वितीय किस्त 30000 रुपया बैंक द्वारा भुगतान किया गया। लेकिन पासबुक उसे नहीं दी गई।

उसके अनपढ़ होने का फायदा उठाते हुए खाते में बची शेष धनराशि को एजेंट बुधई व बैंक कर्मियों ने मिली भगत करके आहरित कर लिया। यही हाल फातिमा का भी है। उसके नाम से 50000 रुपये का ऋण स्वीकृत हुआ था। जिसमें से उसे मात्र 19500 रुपये ही भुगतान मिला हैं। शाखा प्रबंधक प्रमोद कुमार सिन्हा ने दूरभाष पर बताया कि शिकायत निराधार है। दोनों महिलाओं ने अपने नाम स्वीकृत संपूर्ण ऋणराशि का आहरण स्वयं किया है।


खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned