सांप्रदायिक दंगा भड़काने की साजिश नाकाम

सांप्रदायिक दंगा भड़काने की साजिश नाकाम
communal riots failed In Gonda

Shatrudhan Gupta | Updated: 02 Oct 2017, 09:17:52 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

मोहर्रम की रात असामाजिक तत्वों ने एक बार फिर सामाजिक सौहार्द बिगाडऩे की कोशिश की, लेकिन वह सफल नहीं हो सके।

गोंडा. कटरा बाजार क्षेत्र में आज दशहरा और मूर्ति विसर्जन जुलूस शांतिपूर्ण ढंग से निपट जाने के बाद मोहर्रम की रात असामाजिक तत्वों ने एक बार फिर सामाजिक सौहार्द बिगाडऩे की कोशिश की, लेकिन वह सफल नहीं हो सके। स्थानीय लोगों की जागरूकता और जिला प्रशासन की तत्परता से क्षेत्र का माहौल बिगड़ते-बिगड़ते बच गया।

यह वह समय था, जब पिछले वर्ष गणेश प्रतिमा विसर्जन के दौरान दंगा भड़क गया था, जिसके कारण मोहर्रम की ताजिया नहीं रखी गयी थी। इस बार दोनों समुदायों के त्योहार एक साथ पढऩे के कारण प्रशासन तनाव में था, लेकिन मुख्यालय पर दुर्गा प्रतिमा और मोहर्रम का जुलूस सम्पन्न हो गया था। आज दूसरे दिन कर्नलगंज और कटरा में में मोहर्रम का जुलूस निकलना था, लेकिन इससे पूर्व रात्रि में कुछ असामाजिक तत्वों ने माहौल बिगाडऩे का प्रयास किया गया, लेकिन साजिस विफल रहा।

दो लोगों को लिया गया हिरासत में

बताते चलें कि कटरा थानान्तर्गत देवापसिया के मजरा भटपुरवा गांव के पास रविवार रात एक प्रतिबंधित पशु के अवशेष मिलने से क्षेत्र में सनसनी फैल गई। अफवाहों का बाजार गर्म होता देख प्रशासनिक अधिकारियों के हाथ पांव फूल गए। मौके पर पहुचे क्षेत्राधिकारी करनैलगंज केपी सिंह ने मिले अवशेष को कब्जे में लेकर जांच शुरू की तो मामले में नया मोढ़ दिखाई दिया। गांव के ही एक व्यक्ति की निशानदेही पर राम सेवक और मंगल को हिरासत में लिया गया है। सीओ ने बताया कि दोनों लोगो पर गोवध निवारण अधिनियम के साथ ही कई गंभीर धाराओं में मुकदमा पंजीकृत किया गया है। इलाके में अब माहौल शांतिपूर्ण है। प्रशानिक अधिकारी मौके पर गस्त कर रहे हंै।

नेताओ ने शुरू की राजनीतिक रोटियां सेकना चालू

सुबह सैकड़ो समर्थकों के साथ पहुचे सपा जिलाध्यक्ष व विधान परिषद सदस्य महफूज खान ने थाने का घेराव कर प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की मांग की, जिससे त्योहार के समय माहौल बिगाडऩे की कोशिश करने वाले लोगों की मंशा पर पानी फिर सके। वहीं बसपा नेता मसूद आलम खां ने प्रशासन की सूझबूझ से बड़ी घटना टल जाने सामाजिक सौहार्द न बिगडऩे देने में प्रशासन की सराहना की है और दोषियों के खिलाफ रासुका लगाने की मांग की है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned