scriptDistricts hospital video goes viral of eye department | जिला चिकित्सालय के नेत्र विभाग में मरीजों से धन उगाही का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से हो रहा वायरल जाने घूस लेने के बाद क्यों किया वापस | Patrika News

जिला चिकित्सालय के नेत्र विभाग में मरीजों से धन उगाही का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से हो रहा वायरल जाने घूस लेने के बाद क्यों किया वापस

गोंडा जिला चिकित्सालय के नेत्र विभाग का एक वीडियो सोशल मीडिया पर बहुत ही तेजी से वायरल हो रहा है। जिसमें नेत्र परीक्षक मरीजों से पैसे की वसूली करते हुए नजर आ रहा है।

गोंडा

Published: June 01, 2022 06:00:46 pm

योगी सरकार के लाखों प्रयास के बावजूद भी अस्पतालों में मरीजों से अवैध वसूली का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। बाबू ईश्वर शरण जिला चिकित्सालय के नेत्र विभाग में तैनात नेत्र परीक्षक आंख टेस्ट व चश्मा बनाने के के नाम पर पर वीडियो में कुछ पैसे लेते नजर आ रहा है। अस्पताल के घूसखोरी का यह वीडियो किसी मरीज द्वारा बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया गया। वीडियो वायरल होने के बाद अस्पताल के कारनामों की पोल एक बार फिर खुल चुकी है। अभी हाल में एंबुलेंस ना मिलने के कारण एक मरीज को अपने पिता को कंधों पर लादकर 30 किलोमीटर दूरी पैदल चलने के लिए विवश होना पड़ा था। हालांकि कुछ समाजसेवियों के सहयोग से उसे निजी वाहन से घर भेजा गया। उसका आरोप था कि भर्ती के नाम पर भी उससे स्टाफ नर्स द्वारा पैसे की मांग की गई। जब उसने असमर्थता जताई तो उसे बाहर की दवाएं लिखी गई पैसा ना देने की स्थिति में उसके पिता का समुचित इलाज नहीं हो सका। बार-बार स्टाफ नर्स उसके पिता को लखनऊ रेफर करने की बात करती रही। ऐसी स्थिति का खुलासा होने के एक पखवारा नहीं बीता कि अब नेत्र विभाग के घूसखोरी का सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद अस्पताल प्रशासन के कार्य प्रणाली पर सवालिया निशान लग रहे हैं। हालांकि मरीज द्वारा मोबाइल कैमरे से रिकॉर्डिंग की जानकारी जब नेत्र परीक्षक को हो गई तो उन्होंने संबंधित मरीज को पैसा वापस कर दिया। इस वीडियो में पैसा वापस करते भी दिख रहे हैं। वायरल वीडियो मुख्य नेत्र परीक्षक अशोक कुमार गुप्ता का बताया जा रहा है। इस पूरे मामले पर जिला अस्पताल के सीएमएस का कहना है। कि वीडियो वायरल होने की जानकारी उन्हें नहीं है। यदि ऐसा है तो इसकी जांच कराई जाएगी। जांच में पुष्टि होने के बाद संबंधित के खिलाफ प्रमाण मिलने के बाद कठोर कार्यवाही की जाएगी। अस्पताल में मरीजों को सारी जांच दवाई के साथ-साथ निशुल्क में इलाज किए जाते हैं।
img-20220601-wa0002.jpg

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मौसम अलर्ट: जल्द दस्तक देगा मानसून, राजस्थान के 7 जिलों में होगी बारिशइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलस्कूलों में तीन दिन की छुट्टी, जानिये क्यों बंद रहेंगे स्कूल, जारी हो गया आदेश1 जुलाई से बदल जाएगा इंदौरी खान-पान का तरीका, जानिये क्यों हो रहा है ये बड़ा बदलावNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयमोदी सरकार ने एलपीजी गैस सिलेण्डर पर दिया चुपके से तगड़ा झटकाजयपुर में रात 8 बजते ही घर में आ जाते है 40-50 सांप, कमरे में दुबक जाता है परिवार

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: खतरे में MVA सरकार! समर्थन वापस लेने की तैयारी में शिंदे खेमा, राज्यपाल से जल्द करेंगे संपर्क?West Bengal : मुकुल का इस्तीफा- ममता का निर्देश या सीबीआइ का डर?Karnataka Text Book Row : स्कूली पाठ्य पुस्तकों में होंगे आठ बदलावराष्ट्रपति उम्मीदवार Draupadi Murmu पर अभद्र टिप्पणी करने पर डायरेक्टर राम गोपाल वर्मा पर लखनऊ में केस दर्ज, पुलिस ने शुरू की जांचMaharashtra News: सांगली में परिवार के 9 सदस्यों की मौत आत्महत्या नहीं बल्कि हत्या थी, पुलिस ने किया चौका देने वाला खुलासाकेन्द्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान की Yogi से मुलाक़ात, राष्ट्रपति चुनाव और प्रदेश अध्यक्ष की तैयारी में जुटी भाजपाअमरनाथ यात्रा 30 जून से, चार दिन पहले हुई बर्फबारी से मौसम हुआ सुहानाखतरनाक लत: गेम खेलने के लिए मोबाइल नहीं मिलने पर बच्चे ने दे दी जान
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.