scriptElectricity roster's problem , know whole matter | अघोषित विद्युत आपूर्ति को लेकर मचा हाहाकार, जाने आपूर्ति का रोस्टर क्यों बनी समस्या | Patrika News

अघोषित विद्युत आपूर्ति को लेकर मचा हाहाकार, जाने आपूर्ति का रोस्टर क्यों बनी समस्या

गोंडा अघोषित विद्युत कटौती को लेकर शहर से गांव तक हाहाकार मच गया है। आसमान से बरसती आग भीषण गर्मी ने लोगों का दिन का चयन बारात का सुकून छीन लिया है। जिसको लेकर लोग काफी परेशान है।

गोंडा

Published: April 27, 2022 05:53:38 pm

जिले में विद्युत आपूर्ति पूरी तरह से चौपट हो गई है। सरकार के उस दावे की धज्जियां उड़ रही हैं। जिसमें कहा गया है कि ग्रामीण क्षेत्रों में 18 घंटे व शहरी क्षेत्रों में 24 घंटे निर्बाध विद्युत की सप्लाई की जाए। प्रदेश के डिप्टी सीएम बृजेश पाठक के गोंडा दौरे के बाद विद्युत आपूर्ति में कोई सुधार नहीं हुआ है। जबकि उन्होंने कहा था कि रोस्टर के हिसाब से विद्युत आपूर्ति की जाए। वर्तमान समय में विद्युत आपूर्ति के लिए ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों में क्या रोस्टर है यह किसी को पता नहीं है। बिजली कब आएगी कब जाएगी इसके लिए निर्धारित कोई समय नहीं है। बिजली अपने पुराने ढर्रे पर एक बार फिर पहुंच चुकी है। जनपद के आर्य नगर फीडर का हाल तो बहुत ही बेहाल है। यहां के कर्मचारी आपूर्ति बंद होने पर पावर हाउस के नंबर को स्विच ऑफ कर लेते हैं। यहां तक कि उपभोक्ताओं को कोई समुचित जानकारी भी नहीं मिल पाती है। कि बिजली कब आएगी। बीते एक सप्ताह से आपूर्ति पूरी तरह से चरमरा गई है। दिन के समय बड़ी ही मुश्किल से 3 से 4 घंटे व रात्रि के समय कुल मिलाकर 4 से 5 घंटे आपूर्ति मिल पाती है। रात्रि के समय अघोषित कटौती के कारण इस भीषण गर्मी में लोग बेहाल हैं। दिनभर की भागदौड़ के बाद रात्रि का सुकून भी छिन गया है। यह हाल तब है जब सरकार ग्रामीण क्षेत्रों में 18 घंटे बाद शहरी क्षेत्रों में 24 घंटे आपूर्ति का ढिंढोरा पीट रही है। लेकिन विद्युत आपूर्ति सिर्फ कागजों पर हो रही है। आपूर्ति के बिगड़े हालात को देखकर कहीं ना कहीं शासन प्रशासन के प्रति भी लोगों में आक्रोश पनप रहा है। इस संबंध में अधीक्षण अभियंता विद्युत ने बताया वर्तमान समय में कोई रोस्टर चल ही नहीं पा रहा है। उसके पीछे कारण यह है कि एकाएक गर्मी बढ़ने के कारण डिमांड अधिक हो गई है। जबकि आपूर्ति कम है। जब कंट्रोल रूम का निर्देश होता है। ओवरलोडिंग बढ़ती है। क्षेत्र की विद्युत काट दी जाती है। ओवरलोडिंग कम होने पर दूसरे क्षेत्र की जोड़ दी जाती है। इसी तरह काम चल रहा है। इसको लेकर के ऊर्जा मंत्री के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग भी हुई है। समस्या सभी के संज्ञान में है।
img-20220427-wa0002.jpg

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

धन को आकर्षित करती है कछुआ अंगूठी, लेकिन इस तरह से पहनने की न करें गलतीज्योतिष: बुध का मिथुन राशि में गोचर 3 राशि के लोगों को बनाएगा धनवानपैसा कमाने में माहिर माने जाते हैं इस मूलांक के लोग, तुरंत निकलवा लेते हैं अपना कामजुलाई में चमकेगी इन 7 राशियों की किस्मत, अपार धन मिलने के प्रबल योगडेली ड्राइव के लिए बेस्ट हैं Maruti और Tata की ये सस्ती CNG कारें, कम खर्च में देती हैं 35Km तक का माइलेज़ज्योतिष: रिश्ते संभालने में बड़े कच्चे होते हैं इस राशि के लोगजान लीजिए तुलसी के इस पौधे को घर में लगाने से आती है सुख समृद्धिहाथ में इन निशान का होना मां लक्ष्मी की कृपा प्राप्त होने का माना जाता है संकेत

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र विधानसभा में कल फ्लोर टेस्ट, सुप्रीम कोर्ट जा सकती है उद्धव सरकारMaharashtra Political Crisis: 30 जून को फ्लोर टेस्ट के लिए मुंबई वापस पहुंचेगा शिंदे गुट, आज किए कामाख्या देवी के दर्शनMumbai News Live Updates: राज्यपाल के फैसले के बाद संजय राउत बोले-विशेष सत्र बुलाना कानून के मुताबिक नहीं, हम सुप्रीम कोर्ट जाएंगेनवीन जिंदल को भी कन्हैया लाल की तरह जान से मारने की मिली धमकी, दिल्ली पुलिस से की शिकायतUdaipur Murder Case: राजस्थान में एक माह तक धारा 144, पूरे उदयपुर में कर्फ्यू, जानिए अब तक की 10 बड़ी बातेंअमरनाथ यात्रा 2022 : जम्मू से कड़ी सुरक्षा के बीच श्रद्धालुओं का पहला जत्था रवानानुपुर शर्मा के सपोर्टर की उदयपुर में हत्या के बाद हाई अलर्ट पर UP, अफसरों को सतर्क रहने के निर्देशदिल्ली के मंगोलपुरी में फैक्ट्री में लगी आग, दमकल की 26 गाड़ियां मौके पर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.