scriptGonda Operations continued carried out quacks without doctors nurses | एक ऐसा अस्पताल जहां बिना डॉक्टर और नर्स के ऑपरेशन,हैरान रह गया स्वास्थ्य विभाग | Patrika News

एक ऐसा अस्पताल जहां बिना डॉक्टर और नर्स के ऑपरेशन,हैरान रह गया स्वास्थ्य विभाग

locationगोंडाPublished: Jan 05, 2024 09:48:34 am

Submitted by:

Mahendra Tiwari

बिना डॉक्टर और नर्स के एक अस्पताल में महिलाओं की नॉर्मल और ऑपरेशन से डिलीवरी कराई जा रही थी। यह नजारा देखकर स्वास्थ्य विभाग हैरान रह गया।

अस्पताल की जांच करते स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी
अस्पताल की जांच करते स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी
एक अस्पताल पर छापेमारी के दौरान स्वास्थ्य विभाग हैरान रह गया। यहां पर कोई प्रशिक्षित डॉक्टर और नर्स नहीं मिले। जबकि कई महिलाओं की नॉर्मल और ऑपरेशन से डिलीवरी कराई गई थी। अस्पताल का संचालक भी कुछ नहीं बता पाया। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी माथा पीटते रह गए। अधिकारियों के निर्देश पर महिलाओं को एंबुलेंस से जिला महिला अस्पताल में शिफ्ट कराया गया है।
गोंडा जिले के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र इटियाथोक से करीब 300 मीटर की दूरी पर हरैया झूमन ग्राम पंचायत मे मार्ग किनारे संचालित एस के जनता हॉस्पिटल मे गुरुवार शाम को अचानक छापेमारी की गई। टीम के अधिकारियों ने जांच पड़ताल मे इसे अवैध तरीके से संचालित होते पाया गया। अस्पताल को सील किया गया है। जांच के दौरान पुलिस टीम यहाँ मौजूद रही। मौके पर अस्पताल मे पांच महिला मरीज भर्ती मिली। इनमे से कुछ महिलाओं की नॉर्मल डिलेवरी हुई थी। और कुछ का ऑपरेशन किया गया था। सभी को एम्बुलेंस से जिला महिला अस्पताल में शिफ्ट कराया गया है। एसीएमओ ने बताया की जांच के दौरान कोई प्रशिक्षित चिकित्सक व नर्स आदि यहाँ नहीं पाया गया। मौके पर अस्पताल के संचालक मौजूद रहे जिनसे जरुरी जानकारी ली गई। उन्होंने बताया की हरैया झूमन ग्राम पंचायत के ब्लॉक मुख्यालय मार्ग पर संचालित इस हॉस्पिटल की ओर से स्वास्थ्य विभाग में रजिस्ट्रेशन का कोई प्रमाण नहीं मिला। इसका संचालन अवैध रूप से किया जा रहा था, जिसकी शिकायत मिली थी। कोई दस्तावेज नहीं दिखाने व संचालक से डॉक्टर की जानकारी मांगने पर उपलब्ध नहीं कराया गया।
एसीएमओ बोले- संचालक और कर्मचारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया जाएगा

एसीएमओ डॉ आदित्य वर्मा ने बताया जांच के दौरान अस्पताल और मेडिकल स्टोर अवैध रुप से संचालित होता पाया गया। जांच पड़ताल के बाद अस्पताल को सीज कर थाने पर तहरीर देकर अस्पताल संचालक औऱ कर्मचारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया जाएगा।

ट्रेंडिंग वीडियो