scriptincrease the water level of ghagra Nadi due water release from Nepal | नेपाल से छोड़ा गया पानी से बढ़ने लगा घाघरा का जलस्तर, नदी की धारा मोड़ने का काम अभी अधूरा, बढ़ सकती इन गांव की परेशानी | Patrika News

नेपाल से छोड़ा गया पानी से बढ़ने लगा घाघरा का जलस्तर, नदी की धारा मोड़ने का काम अभी अधूरा, बढ़ सकती इन गांव की परेशानी

गोंडा नेपाल बैराज से छोड़ा गया पानी मानसून की दस्तक से साथ जिले की दो तहसीलों के 62 गांवों पर बाढ का खतरा मंडराने लगा है। जिला प्रशासन ने संभावित खतरे को देखते हुए इन सभी गांवों में अलर्ट जारी किया है। और ग्रामीणों को सतर्क रहने के निर्देश दिए हैं।

गोंडा

Published: July 02, 2022 11:45:55 am

बंधे की मरम्मत के नाम पर 11 करोड़ खर्च फिर भी कार्य अधूरा

प्रशासन के अलर्ट के बाद ग्रामीणों में दहशत का माहौल है। वहीं डीएम के निरीक्षण के दौरान बांध की मरम्मत में लगे सिंचाई विभाग के अफसरों की बड़ी लापरवाही सामने आई है। बंधे की मरम्मत के नाम पर अब तक 11 करोड़ रुपये खर्च किए जा चुके है लेकिन मरम्मत का काम पूरा नहीं हो सका है। अब ड्रेजिंग मशीनों के जरिए नदी की धारा को मोड़ने का प्रयास किया जा रहा है। इस लापरवाही को लेकर डीएम ने लापरवाह अफसरों से जवाब तलब किया है और इसकी रिपोर्ट शासन को भेजी है।
img-20220702-wa0002.jpg
बता दें कि पिछले वर्ष अक्तूबर महीने में घाघरा नदी की धारा मुड़कर तरबगंज तहसील के चंदापुर किटौली,रायपुर माझा व नकहरा गांव के करीब पहुंच गई थी जिससे बाढ की सुरक्षा को खतरा पैदा हो गया था। सिंचाई विभाग के अफसरों ने ड्रेजिंग के जरिए नदी की धारा को मोड़ने का सुझाव शासन को दिया और इसके लिए बजट की डिमांड की। शासन ने ड्रेजिंग के दो प्रोजेक्ट को मंजूरी देते हुए 21 करोड़ रुपये का बजट जारी किया था लेकिन बजट जारी होने के बावजूद सिंचाई विभाग के अफसर ड्रेजिंग का काम पूरा नहीं कर सके। ड्रेजिंग के नाम पर अब तक 11 करोड रुपये खर्च हो चुके हैं लेकिन काम अधूरा पड़ा है। जिले में मानसून के दस्तक और पहाड़ी नालों का पानी घाघरा में छोड़ा जाने के बाद अब इन बंधों की सुरक्षा को खतरा पैदा हो गया है। बाढ़ के संभावित खतरे को देखते हुए जिला प्रशासन ने नदी के आसपास बसे 62 गांवों में सुरक्षा को लेकर अलर्ट जारी कर दिया है। बाढ़ से बचाव के लिए 24 बाढ़ चौकियों को भी अलर्ट मोड पर रहने के निर्देश दिए गए हैं। प्रशासन के अलर्ट के बाद यहां के ग्रामीणों में दहशत का माहौल है।
वहीं जिलाधिकारी डा उज्जवल कुमार ने आज बंधे का निरीक्षण किया और लापरवाही बरतने वाले अफसरों को फटकार लगाई। डीएम ने जल्द से जल्द ड्रेजिंग का काम पूरा करने के निर्देश दिया है। डीएम डा उज्जवल कुमार का कहना है ड्रेजिंग का 70 से 80 फीसदी काम ही पूरा हो सका है। इस लापरवाही को लेकर सिंचाई विभाग के अफसरों से जवाब मांगा गया है और शासन को भी इससे अवगत करा दिया गया है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

PM मोदी ने विकसित भारत के लिए देश के सामने 5 प्रण रखा, भाई-भतीजावाद, परिवारवाद और भ्रष्टाचार को बताया चुनौती15 August 2022: स्वतंत्रता दिवस के मौके पर पीएम मोदी ने 3 हेल्थ स्कीम किये लॉन्च , जानें इनके बारे76th Independence Day 2022 : लाल किले से पीएम मोदी ने दिया नया नाराIndependent Day पर देशभर के 1082 पुलिस जवानों को मिलेगा पदक, सबसे ज्यादा 125 जम्मू कश्मीर पुलिस कोIndependence Day 2022 : 26 जनवरी और 15 अगस्त के झंडारोहण में क्या फर्क है? जानिए झंडा फहराने के नियमMaharashtra: नवाब मलिक की बढ़ी मुश्किलें, क्लीन चिट मिलते ही समीर वानखेड़े ने दर्ज कराया मानहानि का केस'आजादी के अमृत महोत्सव' के तहत भारत-पाकिस्तान सीमावर्ती 30 गांवों के विकास के लिए शुरू हुई अनूठी पहलIndependence Day 2022: आजादी के बाद खेल की दुनिया में भारत का बेमिसाल सफर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.