यहाँ तो पंचायत भवन भी किराये पर दिये जाते हैं

 यहाँ तो पंचायत भवन भी किराये पर दिये जाते हैं
Panchayat Bhawan

Abhishek Gupta | Publish: Jun, 11 2016 11:37:00 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

मर्जी हो जिससे शिकायत करो, सब कुछ मैनेज हो जायेगा। शुलभ शौचालय का धन भी डकार गये ग्राम प्रधान।

गोण्डा। पंचायत भवन किराये पर दिये जाते हैं। ऐसा सुनकर हैरान होने की जरूरत नहीं है। यह हाल कहीं और का नहीं बल्कि मुख्यालय से महज 27 किमी की दूरी पर स्थित इटियाथोक ब्लॉक की ग्राम पंचायत श्री नगर बाबागंज का है। यहाँ पर ग्राम प्रधान ने करीब 20 वर्षों से पंचायत भवन को किराये पर दे रखा है। जिसकी शिकायत तहसील दिवस में गांव के निवासी विजय कुमार द्वारा शपथ पत्र देकर की गई है।

जिलाधिकारी को दिये गये पत्र में कहा गया है कि ग्राम पंचायत में सार्वजनिक शुलभ शौचालय बनाने के विधायक नंदिता शुक्ला के प्रस्ताव पर 4 लाख रुपये ग्राम पंचायत के खाते में आया था, परन्तु शौचालय का आधा अधूरा निर्माण कर पूरी धनराशि निकाल ली गयी। यहीं नहीं राजकीय नलकूप की जमीन को कब्जा कर उसमें मकान का निर्माण करा लिया गया।



पत्र में यह भी कहा गया है कि जो व्यक्ति प्रधान के खास हैं उनके नाम जॉब कार्ड बनाकर रोजगार सेवक की मिलीभगत से धन को आहरण किया जाता है। एक ही परिवार में 35 वर्षों से प्रधानी होने के कारण गांव के कांजी हाउस की जमीन पर कब्जा करके मकान बना लिया। सरकारी जमीन हड़पने की शिकायत कहाँ तक बयां की जाये। कुआं व चबुतरा तोड़ कर गांव के सार्वजनिक मार्ग को भी प्रधान के परिजनों द्वारा बन्द कर दिया गया। वर्तमान में इसी परिवार से श्याम कमल प्रधान है। जिन्होंने पत्नी को आशा बहू बनवा दिया है। इन्होंने अभी तक आशा बहू का काम नहीं किया है। बीपीएल सूची में भी प्रधान द्वारा नाम दर्ज करवा कर अपात्र होते हुए भी सरकारी योजनाओं का लाभ ले रहे हैं।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned