गोंडा में पुजारी पर जानलेवा हमला निकला फर्जी, पुलिस का दावा पुजारी ने खुद पर कराई थी फायरिंग

रामजानकी मंदिर के पुजारी अतुल त्रिपाठी उर्फ सम्राट को गोली लगमे के मामले में पुलिस ने नया खुलासा किया है। पुलिस का दावा है कि गोंडा के तिर्रेमनोरमा के पूर्व ग्राम प्रधान अमर सिंह को फंसाने के लिए रामजानकी मंदिर के महंत ने मौजूदा ग्राम प्रधान के साथ मिलकर पुजारी को मारने की साजिश रची थी।

By: Karishma Lalwani

Updated: 18 Oct 2020, 01:39 PM IST

गोंडा. रामजानकी मंदिर के पुजारी अतुल त्रिपाठी उर्फ सम्राट को गोली लगमे के मामले में पुलिस ने नया खुलासा किया है। पुलिस का दावा है कि गोंडा के तिर्रेमनोरमा के पूर्व ग्राम प्रधान अमर सिंह को फंसाने के लिए रामजानकी मंदिर के महंत ने मौजूदा ग्राम प्रधान के साथ मिलकर पुजारी को मारने की साजिश रची थी। इस साचिश में मृतक पुजारी भी शामिल था। पुलिस ने आरोपियों को पकड़ लिया है। उनके पास से तीन तमंचा, तीन जिन्दा कारतूस, एक खोखा कारतूस व चार मोबाइल बरामद किया है। बता दें कि रामजानकी मंदिर के पुजारी की हत्या 10 अक्टूबर की आधी रात मंदिर के अंदर गोली मारकर की गई थी। मामले में मंदिर के महंत वृन्दाशरण त्रिपाठी उर्फ सीताराम दास ने तिर्रेमनोरमा के पूर्व ग्राम प्रधान अमर सिंह समेत चार लोगों के खिलाफ थाना इटियाथोक में जानलेवा हमले की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। पुलिस ने दो अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया था।

मंदिर की जमीन को लेकर था विवाद

एसपी शैलेश कुमार के अनुसार, आरोपियों और अमर सिंह के बीच मंदिर की 120 बीघा जमीन को लेकर विवाद था। इसलिए ग्राम प्रधान विनय सिंह व पुजारी सम्राट दास के साथ मिलकर घटना से एक माह पहले अमर सिंह को फंसाने के इरादे से साजिश रची थी। साजिश को 10 अक्टूबर को अंतिम रूप दिया गया जब नीरज सिंह, मुन्ना सिंह व सोनू सिंह मंदिर पहुंचे।वहां मुन्ना सिंह ने पुजारी को गोली मार दी। फायरिंग की आवाज सुनकर होमगार्ड दौड़े तो आरोपियों ने होमगार्ड पर भी फायर झोंका। मगर फायर मिस हो जाने से होमगार्ड बच गए। उन्होंने बताया कि आरोपियों के पास से 315 बोर का तीन तमंचा, तीन जिन्दा कारतूस, एक खोखा कारतूस व चार मोबाइल फोन मिले हैं। वहीं, गोली लगे पुजारी का लखनऊ के केजीएमयू में इलाज चल रहा है। पुलिस का कहना है कि पुजारी के स्वस्थ होते ही उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

चुनाव लड़ने से आपत्ति

एसपी ने यह भी कहा कि अमर सिंह इस बार वहां गांव में प्रधान का चुनाव लड़ना चाहता था। गांव का मौजूदा प्रधान विनय कुमार सिंह भी नहीं चाहता था कि अमर सिंह जैसा मजबूत उम्मीदवार वहां चुनाव लड़े लिहाजा वो भी इस साजिश में शामिल हो गया।

ये भा पढ़ें: जहरीली हुई राजधानी की हवा, एक्यूआई 249 के खतरनाक स्तर पर, 9 निर्माण इकाइयों को जारी हुआ नोटिस

Karishma Lalwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned