वज्रपात और बारिश का कहर जारी, सैकड़ों लोग मरे, इन इलाकों में 72 घंटों का अलर्ट जारी

राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन की ओर से बिजली गिरने के वक्त बचाव के उपायों को लेकर सुझाव और वीडियो जारी किए गए हैं (More Than 100 People Died Due To Rain And ThunderStorm In Bihar) (Bihar News) (Rain In Bihar) (Weather Update) (Weather Forecast) (Gopalganj News)...

 

By: Prateek

Updated: 26 Jun 2020, 03:51 PM IST

प्रियरंजन भारती
पटना: बिहार में भारी बारिश और वज्रपात का कहर जारी है। बिजली गिरने से अब तक सौ लोगों की जान जा चुकी है। शुक्रवार की सुबह से ही उत्तर और मध्य बिहार में बारिश हो रही है। शेखपुरा में वज्रपात से एक चरवाहे की मौत हो गई। बिजली गिरने से झुलसे कई लोगों की इलाज के दौरान मौत हो जाने से मरने वालों का आंकड़ा सौ पार कर चुका है। राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन की ओर से बिजली गिरने के वक्त बचाव के उपायों को लेकर सुझाव और वीडियो जारी किए गए हैं। प्रधानमंत्री ने इस आपदा के शिकार हुए लोगों के प्रति शोक प्रकट करते हुए एहतियात बरतने की सलाह दी है और राज्य सरकार को हर संभव मदद का भरोसा दिया है। इधर मौसम विभाग ने फिर दावा किया कि 28 जून तक वज्रपात और बारिश का कहर जारी रहेगा।

यह भी पढ़ें: बारात ले जाने की चल रही थी तैयारी, कुएं से मिला दुल्हे का शव, छोटी सी बात से था नाराज

मरने वालों का आंकड़ा सौ के पार

बज्रपात से मरने वालों का आंकड़ा सौ पार कर गया है। बिजली गिरने से झुलसे लोगों की इलाज के दौरान मौत हो जाने से संख्या बढ़ रही है। शुक्रवार को शेखपुरा में एक चरवाहे की वज्रपात से मौत हो गई। राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन ने इससे बचाव के उपायों पर जोर देते हुए विडियो जारी की और घरों से नहीं निकलने की जनता से अपील की है। प्रधानमंत्री ने भी ट्वीट कर मरने वालों के प्रति शोक प्रकट किया।

यह भी पढ़ें: विवादित नक्शा लाने के बाद चुप नहीं है नेपाल, सीमा पर बना रहा सड़क और हेलीपैड

यह है सबसे प्रभावित इलाके...

बारिश होने का सिलसिला शुक्रवार की सुबह से ही जारी है। प्रभावित जिलों गोपालगंज, पूर्वी चंपारण, पश्चिमी चंपारण, किशनगंज, अररिया, समस्तीपुर,छपरा, सीवान, मधेपुरा, मधुबनी, दरभंगा,सीतामढ़ी, पूर्णियां, मधेपुरा, सहरसा, शेखपुरा, मुजफ्फरपुर और वैशाली जिलों में सुबह से ही रुक रुककर तेज बारिश हो रही है। सरकार ने घर से बाहर न निकलने और बारिश वह वज्रपात के समय मोबाइल पर बात नहीं करने की हिदायतें जारी की हैं।

यह भी पढ़ें: Mangaluru में बारिश के कारण सड़क पर जलजमाव, सफाई के लिए खुद सीवर में उतरे BJP पार्षद

28 जून तक बारिश और वज्रपात का खतरा

उत्तर बिहार के अधिकांश जिलों में बारिश और वज्रपात का खतरा रविवार 28 जून तक बना रहेगा। इस दरमियान भारी बारिश भी होगी। दरअसल बिहार से लेकर राजस्थान तक ट्रफ लाइन बनने से राज्य में कन्वर्जेंस जोन बन गया है। यह जोन ऐसा क्षेत्र है जहां गर्म और ठंडी हवाएं आपस में टकराती हैं। गर्म और ठंडी हवाओं के टकराने से बिजली कड़कती और गिरती है जिसे बिहार में 'ठनका'कहा जाता है।

यह भी पढ़ें: 30 साल से जी रहा था औरत की जिंदगी, कैंसर के इलाज के लिए गया तो पता चला वह है एक 'मर्द'

पटना मौसम विभाग के वैज्ञानिक संजय कुमार कहते हैं कि मौजूदा समय में उत्तर बिहार के सीमावर्ती इलाकों में लगभग 3.5 किलोमीटर ऊंचाई पर बंगाल की खाड़ी से आने वाली नमीयुक्त हवा और राजस्थान से आ रही शुष्क हवाएं टकरा रही हैं। इसके चलते ही बिजली कड़क रही और वज्रपात हो रहा है। मौसम वैज्ञानिकों की मानें तो ठनका गिरने की घटनाएं वायुमंडलीय उथल पुथल से भी होती हैं। कोरोनाबंदी में प्रदूषण की मात्रा कम होने से वायुमंडल में बहुत उथल पुथल हुआ है। सामान्यतः मॉनसून के शुरुआती दौर में ठनका गिरने की घटनाएं खूब होती हैं।

बिहार की ताजा ख़बरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें...

Show More
Prateek Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned