यूपी में पौने दो सौ प्रभारी प्रधानाध्यापकों ने पद से दिया इस्तीफा, बेसिक शिक्षा विभाग में हड़कंप

  • इतनी संख्या में इस्तीफा से बेसिक शिक्षा व्यवस्था चरमरा सकती
  • कई सालों से पदोन्नति के इंतजार में थे शिक्षक

कुशीनगर जिले के करीब पौने दो सौ प्रभारी प्रधानाध्यापकों ने इस्तीफा दे दिया है।(Mass resignation in UP Basic education department)पदोन्नति नहीं दिए जाने व अनावश्यक कार्यदबाव से परेशान होकर शिक्षकों ने इस्तीफा दिया है। (More than 175 teachers resign as Acting Head master post) )ये लोग अध्यापन कार्य पूर्व की भांति करते रहेंगे। शिक्षकों का आरोप है कि कई सालों से वे लोग प्रधानाध्यापक का कार्य कर रहे हैं लेकिन अर्ह होने के बाद भी विभाग पदोन्नति नहीं कर रहा है। ऐसे में मूल कार्य ही वे लोग अपना करेंगे।

इस्तीफा की शुरूआत कुशीनगर जिले के विशुनपुरा विकास खंड से प्रारंभ हुई। यहां एक दिन पहले 58 शिक्षकों ने प्रभारी प्रधानाध्यापक पद से इस्तीफा दे दिया। जिले के एक शिक्षक नेता ने बताया कि ये सभी शिक्षक प्रधानाध्यापक पद पर पदोन्नति पाने के लिए अर्ह हैं। इनसे काम तो प्रधानाध्यापकों वाला लिया जा रहा है लेकिन मूल पद सहायक अध्यापक का ही है।
विशुनपुरा में शिक्षकों के प्रभारी प्रधानाध्यापक पद से इस्तीफा का मामला अभी तूल पकड़ा था कि पडरौना सदर विकास खंड के भी करीब सवा सौ शिक्षकों ने प्रभारी प्रधानाध्यापक पद पर बने रहने से इनकार करते हुए पद छोड़ने का ऐलान कर दिया। ये लोग भी अध्यापन काम ही सिर्फ करेंगे। इस्तीफा देने वाले शिक्षकों का कहना है कि मिड डे मिल सहित कई प्रकार का अनावश्यक दबाव है जबकि इसके लिए कोई अतिरिक्त भत्ता या सुविधा विभाग द्वारा देय नहीं है।
उधर, एक साथ इतने प्रभारी प्रधानाध्यापकों के सामूहिक इस्तीफा से बेसिक शिक्षा विभाग में हडकंप मचा हुआ है। इनके पद छोड़ने से स्कूलों की व्यवस्था चरमरा जाएगी।

धीरेन्द्र विक्रमादित्य
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned