यूपी में लड़की को अगवाकर 5 लोगों ने किया गैंगरेप, अर्धनग्न हालत में अस्पताल के पास फेककर भागे

महाराजगंज जिले की युवती को अगवाकर उसके साथ पांच लोगों ने गैंगरेप किया। पीड़ित युवती की हालत खराब होने पर उसे गोरखपुर के भटहट स्थित एक निजी अस्पताल के सामने फेककर भाग गए। पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

गोरखपुर. महाराजगंज के श्यामदेउरवा क्षेत्र की एक लड़की को उठाकर उसके साथ पांच लोगों द्वारा गैंगरेप करने का मामला सामने आया है। सामूहिक दुष्कर्म के बाद आरोपी पीड़ित युवती को अर्धनग्न हालत में गोरखपुर के भटहट में एक अस्पताल के पास फेककर फरार हो गए। युवती को इलाज के लिये स्थानीय सरकारी अस्प्ताल ले जाया गया, जहां से उसे बीआरडी मेडिकल काॅलेज रेफर कर दिया गया। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

 

पुलिस की जांच से जो जानकारी सामने आई है उसके मुताबिक युवती को श्यामदेउरवा क्षेत्र से अगवा किया गया, जिसकी जानकारी वहां की पुलिस को दे दी गई। उधर मामले में गुलिरहा पुलिस के मुताबिक पूछताछ में पता चला है कि सोमवार की शाम युवती अपने घर से निकली ही थी कि गांव से कुछ दूरी पर उसे पांच युवक मिले जो झांसा देकर उसे अपने साथ ले गए।

 

एक मकान में पांचों ने पहले जमकर शराब पी, फिर बारी-बारी से नशे की हालत में उसके साथ रेप किया। विरोध करने पर आरोपियों ने युवती की पिटाई भी की। सुबह काफी खून बहने लगा तो युवती दर्द से कराहने लगी। उसकी तबीयत बिगड़ी तो आरोपी उसे गोरखपुर के भटहट कस्बे में एक निजी अस्पताल के सामने फेककर भाग गए।

 

स्थानीय लोगों ने युवती को इस हाल में देखकर पुलिस को सूचित किया। मौके पर पहुंची पुलिस ने युवती को कपड़े खरीदकर दिये। उसे सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र भटहट पहुंचाया, जहां से उसे बीआरडी मेडिकल काॅलेज रेफर कर दिया गया। कहा जा रहा है कि देर शाम श्यामदेउरवा पुलिस उसे लेकर महाराजगंज चली गई, लेकिन पुलिस का कहना है कि मेडिकल काॅलेज से उसके परिजन उसे घर ले गए।

 

उधर पीड़ित युवती की तलाश में भटहट पहुंचे परिजनों का कहना था कि पीड़िता को दौरे पड़ते हैं, जिसके बाद वह अक्सर घर से निकल जाती है। सोमवार को भी वह घर से निकली, लेकिन लौटी नहीं। इस मामले में गुलिरहां इंस्पेक्टर रवि कुमार ने मीडिया को बताया है कि घटनास्थल महाराजगंज है, लेकिन यहां भी जांच की जा रही है। सीसीटीवी कैमरों फुटेज के आधार पर आरोपियों की पहचान का प्रयास हो रहा है। पुलिस को पीड़िता की मेडिकल रिपोर्ट का इंतजार है।

 

उधर घटना के बाबत श्यामदेउरवा थानाध्यक्ष विजय राज सिंह ने मीडिया को बताया कि महिला पुलिस को पीड़िता के घर भेजकर जांच कराई गई तो पता चला है कि उसकी मानसिक हालत ठीक नहीं। उनके मुताबिक वह किसी सवाल का ठीक से जवाब नहीं दे पा रही है। उन्होंने कहा कि परिजन तहरीर देंगे तो कार्रवाई की जाएगी।

रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned