ABVP को केवल अध्यक्ष पद पर मिली जीत, तीन पदों पर निर्दलीयों ने बाजी मारी

ABVP को  केवल अध्यक्ष पद पर मिली जीत, तीन पदों पर निर्दलीयों ने बाजी मारी

Dheerendra Vikramdittya | Publish: Sep, 12 2018 12:51:37 AM (IST) Gorakhpur, Uttar Pradesh, India


दिग्विजयनाथ पीजी काॅलेज में छात्रसंघ चुनाव संपन्न

दिग्विजयनाथ पोस्ट ग्रेजुएट काॅलेज के छात्रसंघ चुनाव में अध्यक्ष पद पर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद का कब्जा हो गया है। एबीवीपी के अभय सिंह ने 773 मत पाकर अपने प्रतिद्वंद्वी को मात दी है। हालांकि, अन्य तीनों पदों पर एबीवीपी को हार का सामना करना पड़ा है। उपाध्यक्ष राज प्रताप सिंह चुने गए हैं, महामंत्री क्रांति सिंह व पुस्तकालय मंत्री अभिषेक सिंह चुने गए हैं। तीनों उम्मीदवार निर्दल चुनाव मैदान में थे।
दिग्विजयनाथ पीजी काॅलेज महाराणा प्रताप शिक्षा परिषद द्वारा संचालित काॅलेज है। काॅलेज गोरखपुर विवि से संबद्ध है।

किस पद पर कौन हुआ है विजयी
अध्यक्ष पद पर एबीवीपी के अभय सिंह 773 मत पाकर विजयी हुए हैं। उनके निकटम प्रतिद्वंद्वी हिमांशु पाल 297 मत ही पा सके हैं। जबकि तीसरे नंबर पर अंकिता शुक्ला रहीं। अंकिता को 221 मत मिले। शाश्वत सिंह को 91, आदेश सिंह को 79 और शिवव्रत यादव को 69 मत मिले हैं।
उपाध्यक्ष पद पर राज प्रताप सिंह ने जीत दर्ज कराई है। राज को 419 मत मिले हैं। जबकि एबीवीपी के प्रत्याशी शुभम मिश्र को 345 मत मिले हैं। अन्नू गुप्ता 344 मत पाकर तीसरे नंबर पर रहीं। आकाश यादव को 326 वोट मिले हैं तो राजगुप्ता को 90 मत।
महामंत्री पद पर क्रांति सिंह को 423 मत मिले। यहां भी एबीवीपी प्रत्याशी दिव्यांशु दुबे 415 वोट पाकर दूसरे नंबर पर रहे। मिथिलेश यादव को 372 वोट तो कपिलदेव यादव को 319 वोट मिले हैं।
पुस्तकालय मंत्री पद पर अभिशेक सिंह 665 वोट पाकर जीते हैं। उनके निकटतम प्रतिद्वंद्वी जंतो सैनी को 494 वोट तथा राकेश यादव को 370 वोट मिले हैं। अध्यक्ष पद को छोड़कर एबीवीपी को तीन अन्य पदों पर हार का मुंह देखना पड़ा है।

सुबह पड़े थे वोट

डीवीएनपीजी कॉलेज के चुनाव में सुबह से ही छात्र-छात्राओं के आने जाने का सिलसिला शुरू हो गया था। सड़क से लेकर कैंपस तक तरह-तरह के चुनावी रंग देखने को मिले। सड़कों पर समर्थक अपने कैंडिडेट्स के लिए वोट की अपील करते नजर आए, वहीं दूसरी ओर कैंपस के आसपास खूब खूब पर्चिंया भी उड़ाई गईं। कैंपस के अंदर कैंडिडेट्स और उनके एजेंट भी वोटर्स को अपने पक्ष में करने को तरह तरह के तरकीब कर लुभाते रहे। सुबह आठ बजे से दो बजे तक मतदान हुआ। पांच बूथ्स पर वोट पड़े। 3362 छात्र-छात्राओं को वोट करना था। शाम को मतों की गिनती होने के बाद रात में विजेता उम्मीदवारों के नामों का ऐलान कर दिया गया। चुनाव अधिकारी शशिप्रभा सिंह ने विजयी पदाधिकारियों के नाम का ऐलान करने के बाद उनको प्रमाण पत्र दिया। इसके बाद उन्हें पद व गोपनीयता की शपथ दिलाई गई।

 

Ad Block is Banned