भाजपा विधायक पर क्यों इंजीनियर्स लगा रहे गाली देने का आरोप


नाराज इंजीनियरों ने एक महीना के सामूहिक अवकाश पर जाने का किया ऐलान

गोरखपुर शहर में नागरिक व्यवस्थाओं को दुरुस्त करने के लिए सक्रिय भाजपा के वरिष्ठ विधायक डाॅ.राधामोहन दास अग्रवाल के खिलाफ रामगढ़ताल परियोजना के इंजीनियर्स ने मोर्चा खोल दिया है। इंजीनियर नगर विधायक पर गाली देने का आरोप लगाकर 28 जनवरी तक सामूहिक अवकाश पर चले गए हैं।

Read this also: नागरिकता संशोधन एक्ट के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान पत्थरबाजी करने वालों का सुराग देने पर इनाम

बता दें कि जिम्मेदार अधिकारियों की अनदेखी से गोरखपुर में विकास कार्य के नाम पर जगह जगह आम शहरियों को दुश्वारियों का सामना करना पड़ रहा है। शहर के इंजीनियरिंग कॉलेज क्षेत्र, नंदानगर क्षेत्र आदि जगहों पर करीब डेढ़ साल से जल निगम सीवर लाइन बिछवा रहा। लेकिन इस काम में देरी की वजह से लागत में बेतहाशा इजाफा तो हुआ ही है, आम नागरिकों को भी दुश्वारियां झेलनी पड़ रही। इन मोहल्लों में बड़े-बड़े गड्ढे हो गए हैं। बताया जा रहा है कि रोजाना कोई न कोई गिरकर चुटहिल हो रहा है।
आमजन की इन समस्याओं को देखते हुए नगर विधायक डाॅ.राधामोहन दास अग्रवाल ने स्वयं हस्तक्षेप किया। उन्होंने स्थानीय जिम्मेदारों से बातचीत करने के साथ ही मामले को दो बार विधानसभा में भी उठाया। भाजपा विधायक ने सदन को अवगत कराया कि सीवर लाइन बिछाने में लेटलतीफी के साथ ही मानकों को भी दरकिनार कर दिया गया है।

Read this also: 14 माह के मासूम को है मदद की दरकार, इलाज के लिए धन नहीं होने से परेशान मां

सदन में मामला उठने के बाद नगर विकास मंत्री ने तीन सदस्यीय जांच कमेटी का गठन किया। कमेटी ने बीते 28, 29 और 30 दिसंबर को नंदानगर, दरगहिया, इंजीनियरिंग कॉलेज क्षेत्र आदि में जांच पड़ताल की। जांच के दौरान विधायक भी मौजूद रहे। इसी दौरान इंजीनियर्स पर विधायक द्वारा गाली देने व इंजीनियर्स के बच्चों को सीवर लाइन में फेंकने की धमकी का आरोप है।
इंजनियर्स का कहना है कि विधायक ने सरेआम उन लोगों को नंगा कर मारने की धमकी दी। यही नहीं विधायक पर लोगों को उकसाने व इंजीनियर्स को बंधक बनाकर मारने की बात कहने का भी आरोप है।
बताया जा रहा है कि विधायक ने इंजीनियरों से कहा, इनके (इंजीनियरों को) बच्चों को सीवर लाइन में डाल दें तब समझ में आएगा।

Read this also: इस तरह बदल रही यूपी वालों की जिंदगी, यह योजनाएं साबित हो सकती हैं चेंजमेकर

धीरेन्द्र विक्रमादित्य
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned