scriptBig negligence of Gorakhpur University, first year papers distributed | गोरखपुर विश्वविद्यालय की बड़ी लापरवाही,बीए द्वितीय वर्ष की परीक्षा में बांट दिए प्रथम वर्ष के पेपर | Patrika News

गोरखपुर विश्वविद्यालय की बड़ी लापरवाही,बीए द्वितीय वर्ष की परीक्षा में बांट दिए प्रथम वर्ष के पेपर

गोरखपुर विश्वविद्यालय की बड़ी लापरवाही सामने आई है। बुधवार को विश्वविद्यालय प्रशासन ने बीए द्वितीय वर्ष के पेपर की जगह प्रथम वर्ष का पेपर छात्रों के दिया गया । जिसे देख छात्र आक्रोशित हो गए । बाद ने विश्वविद्यालय ने परीक्षा स्थगित कर दी।

गोरखपुर

Published: April 27, 2022 02:55:52 pm


बुधवार को बीए द्वितीय वर्ष के छात्र गोरखपुर विश्वद्यालय में अपनी परीक्षा देने गए थे। परीक्षा हाल में वह प्रश्न पत्र का इंतजार कर रहे थे। परीक्षा थी अंग्रेजी ब्रिट्रिश प्रोज एंड नावेल आफ नाइनटींथ एंड ट्वनटींथ सेंचुरी प्रश्नपत्र की। लेकिन जब छात्रों ने प्रश्न पत्र देखा तो उनके होश उड़ गए। इस पेपर की जगह उन्हें बीए प्रथम वर्ष का प्रश्न पत्र दे दिया गया था। ऐेसे परीक्षार्थीयों ने हंगामा शुरु कर दिया । बहुत देर बाद किसी तरह प्रशासन ने छात्रों को समझाया और छात्र शांत हुए। बाद में परीक्षा स्थगित कर दी गई।
ddu.jpg

जानकारी के मुताबिक, सुबह की पाली में विवि के कला संकाय में सुबह साढ़े सात बजे से बीए अंग्रेजी द्वितीय वर्ष अंग्रेजी ब्रिट्रिश प्रोज एंड नावेल आफ नाइनटींथ एंड ट्वनटींथ सेंचुरी प्रश्नपत्र की परीक्षा थी। जैसे ही अंग्रेजी का प्रश्नपत्र परीक्षार्थियों को मिला वे हतप्रभ रहे गए। क्योंकि पेपर का शीर्षक ताे सही था, लेकिन पेपर के अंदर के सभी प्रश्न बीए प्रथम वर्ष अंग्रेजी ड्रामा से संबंधित थे। इसको देखते ही विद्यार्थी उग्र हो गए।
सूचना मिलते ही केंद्राध्यक्ष डा.अमित कुमार उपाध्याय तत्काल कला संकाय भवन पहुंचे और वहीं से अंग्रेजी के विभागाध्यक्ष प्रो.अजय शुक्ला व परीक्षा नियंत्रक डा.अमरेंद्र कुमार सिंह को इस गड़बड़ी की जानकारी दी। जिसके बाद विवि प्रशासन ने छात्रहित में तत्काल निर्णय लेते हुए इस प्रश्नपत्र की परीक्षा स्थगित कर दी। इसके बाद केंद्राध्यक्ष अपनी टीम के साथ सभी कक्षों में जाकर विद्यार्थियों से उनके हित में निर्णय लेने की बात बताई। जिसके बाद विद्यार्थी शांत हुए और परीक्षा कक्ष से निकले। इस पूरी प्रक्रिया में आधे घंटे से अधिक का समय लग गया। इस मामले पर रोष जताते हुए गुआक्टा ने इस गड़बड़ी के लिए सीधे तौर विवि प्रशासन को जिम्मेदार ठहराया है।
देवरिया भी में गलत बंटे प्रश्न पत्र-
प्रश्नपत्र गलत बंट जाने के मामले में संत विनोबा पीजी कालेज देवरिया, बीआरडीपीजी कालेज बरहज तथा दिग्विजयनाथ पीजी कालेज गोरखपुर में भी हुए।
गोरखपुर विश्वविद्यालय के केंद्राध्यक्ष डा.अमित कुमार उपाध्याय ने बताया कि
कला संकाय में जैसे ही परीक्षा शुरू हुई ओर विद्यार्थियों काे अंग्रेजी का प्रश्नपत्र गलत मिलने की सूचना मिली। मैं तत्काल मौके पर गया और छात्रों से वार्ता कर विवि प्रशासन को इसकी सूचना दी। जिसके बाद विवि प्रशासन ने छात्रहित में निर्णय लेते हुए परीक्षा स्थगित कर दी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

महाराष्ट्र की राजनीति में बड़ा उलटफेर: एकनाथ शिंदे ने ली मुख्यमंत्री पद की शपथ, देवेंद्र फडणवीस बने डिप्टी सीएमMaharashtra Politics: बीजेपी ने मौका मिलने के बावजूद एकनाथ शिंदे को क्यों बनाया सीएम? फडणवीस को सत्ता से दूर रखने की वजह कहीं ये तो नहीं!भारत के खिलाफ टेस्ट मैच से पहले इंग्लैंड को मिला नया कप्तान, दिग्गज को मिली बड़ी जिम्मेदारीउदयपुर कन्हैयालाल हत्याकांडः कानपुर से आतंकी कनेक्शन, एनआईए की टीम जल्द जा कर करेगी छानबीनAgnipath Scheme: अग्निपथ स्कीम के खिलाफ प्रस्ताव पारित करने वाला पहला राज्य बना पंजाब, कांग्रेस व अकाली दल ने भी किया समर्थनPresidential Election 2022: लालू प्रसाद यादव भी लड़ेंगे राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव! जानिए क्या है पूरा मामलाMumbai News Live Updates: शरद पवार ने किया बड़ा दावा- फडणवीस डिप्टी सीएम बनकर नहीं थे खुश, लेकिन RSS से होने के नाते आदेश मानाUdaipur Murder: आरोपियों को लेकर एनआईए ने किया बड़ा खुलासा, बढ़ी राजस्थान पुलिस की मुश्किल
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.