यूपी के इस मेडिकल काॅलेज में आबरू बचाने के लिए नग्न अवस्था में भागी किशोरी

यूपी के इस मेडिकल काॅलेज में आबरू बचाने के लिए नग्न अवस्था में भागी  किशोरी

Dheerendra Vikramadittya | Updated: 25 Jun 2018, 07:30:30 PM (IST) Gorakhpur, Uttar Pradesh, India


बलरामपुर की रहने वाली किशोरी को बहलाफुसला कर एक महिला बुलाई थी मेडिकल काॅलेज

आक्सीजन कांड से चर्चित बीआरडी मेडिकल काॅलेज फिर चर्चा में है। मेडिकल काॅलेज के बर्न वार्ड की छत पर एक किशोरी की आबरू लूटने की कोशिश की गई। आबरू बचाने के लिए किसी तरह दरिंदे की चंगुल से नग्न अवस्था में ही भाग निकली। नग्न हालत में किशोरी को मेडिकल काॅलेज में बदहवास भागते किशोरी को देखकर लोगों ने उसे तन ढकने को कपड़े दिए। रात के अंधेरे का फायदा उठाकर आरोपी भागने में सफल रहे। किशोरी ने बताया कि नौकरी दिलाने के नाम पर मेडिकल काॅलेज की नर्स बताने वाली एक महिला ने उसे फुसलाकर बुलाया और चुपके से दरिंदों के हवाले कर दिया। किशोरी बलरामपुर जिले की रहने वाली है। पुलिस ने दो लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।
फिल्मी कहानी की तरह गोरखपुर में घटी इस शर्मनाक घटना की शुरूआत करीब एक सप्ताह पहले हुई। बलरामपुर की रहने वाली एक किशोरी परिजन से नाराज होकर घर छोड़कर लखनउ जा रही थी। इस दौरान उसकी मुलाकात सोनाली नामक किसी युवती से हुई। युवती ने बताया कि वह गोरखपुर की रहने वाली है। बातों बात में दोनों में परिचय हुआ फिर मोबाइल नंबर का आदान प्रदान हो गया। किशोरी ने बताया कि सोनाली ने बताया कि वह मेडिकल काॅलेज में नर्स है। फिर दोनों की बातचीत फोन पर होने लगी। चूंकि, किशोरी घर छोड़ दी थी, सो उसने तथाकथित नर्स सोनाली से नौकरी दिलाने का अनुरोध किया। उसने भी जल्द कोई नौकरी दिलाने का आश्वासन दिया। किशोरी ने बताया कि करीब चार दिन पहले युवती ने फोन कर गोरखपुर पहुंचने को कहा। उसने बताया कि वह नौकरी का इंतजाम कर दी है। शनिवार को जब किशोरी पहुंची तो युवती खुद रेलवे स्टेशन पर रिसीव करने पहुंची। उसने उसे मेडिकल काॅलेज पहुंचाया, पूरे दिन घुमाया। दोपहर में मेडिकल काॅलेज में ही लंच कराया। कैंटीन में ही सोनाली से मिलने तीन युवक आए। सोनाली ने किशोरी से उनका परिचय यह कहकर कराया कि इनको भी नौकरी दिलानी है, इसलिए बुलाया है। देर शाम तक सभी मेडिकल काॅलेज में ही घूमते रहे। रात होने पर सोनाली ने मोबाइल डिस्चार्ज होने का बहाना बनाया।
पीड़िता ने बताया कि अफरोज नामक युवक को उसके साथ मोबाइल चार्ज करने किसी दाई मां के कमरे में भेजा। अफरोज उसे लेकर मेडिकल काॅलेज के बर्न वार्ड की छत पर गया। किशोरी को वहीं रूकने को बोल वह मोबाइल लगाने चला गया।
पीड़िता ने बताया कि मोबाइल चार्ज में लगाने के बाद वह वापस छत पर आया तो किशोरी संग छेड़छाड़ करने लगा। उसने किशोरी से कपड़े उतारने को बोला। जब किशोरी ने आनाकानी की और विरोध किया तो जबर्दस्ती उसके कपड़े उतार दिए। फिर उसके साथ दुराचार की कोशिश करने लगा। किसी तरह उसकी चंगुल से छूटकर किशोरी नग्न अवस्था में ही भाग निकली। नीचे उसे उस अवस्था में देख लोग अवाक रह गए। रोती-चिखती किशोरी को तत्काल वहां मौजूद एक युवक ने अपना टीशर्ट दिया। कपड़े पहने के बाद वह आपबीती सुनाने लगी तो लोग हैरान हो गए। तत्काल पुलिस बुलाई गई।
पुलिस ने किशोरी की तहरीर पर केस दर्ज कर लिया है। हालांकि, आरोपी अभी भी पुलिस की पकड़ से दूर हैं। पीड़िता को आशा ज्योति केंद्र पर रखा गया है। परिवारीजन को बुलाया गया है।
पीड़िता की तहरीर पर पुलिस ने मुकदमा अपराध संख्‍या 462/18 पर आईपीसी की धारा 376, 511, 419, 420, 504, 506 केस दर्ज किया गया है।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned