scriptकैंटीन ब्वॉय निकला SBI में हुई 80 लाख की जालसाजी का मास्टर माइंड | Canteen turns out to be the mastermind behind the fraud of Rs 80 lakh in SBI | Patrika News
गोरखपुर

कैंटीन ब्वॉय निकला SBI में हुई 80 लाख की जालसाजी का मास्टर माइंड

गोरखपुर जिले के पीपीगंज थाना क्षेत्र के जंगल कौड़िया स्थित भारतीय स्टेट बैंक शाखा में एफडी, पेंशन लोन और केकेसी समेत कई मदों में करीब 80 लाख रुपये की जालसाजी का मामला सामने आया है।पुलिस ने शाखा प्रबंधक, बैंक अकाउंटेंट और कैंटीन बॉय के खिलाफ मंगलवार को केस दर्ज कर लिया। उधर, बैंक प्रबंधन ने शाखा प्रबंधक और अकाउंटेंट को निलंबित कर दिया है।

गोरखपुरJun 12, 2024 / 03:31 pm

anoop shukla

SBI की कौड़िया शाखा में 80 लाख रुपये की जालसाजी का मामला सामने आने के बाद उच्च अधिकारी हैरान हैं। जांच में पता चला है कि कैंटिन ब्वॉय पीपींगज निवासी पंकज मणि त्रिपाठी मुख्य आरोपी है। पंकज स्थानीय होने के कारण क्षेत्र के लोगों से अच्छी तरह घुला मिला है।
ग्राहकों का विश्वास प्राप्त कर तत्कालीन शाखा प्रबंधक कुमार भाष्कर भूषण और एकाउंटेंट अमरेंंद्र कुमार सिंह के साथ मिलकर जालसाजी करता था। यही नहीं रुपये कमाने के लिए शाखा प्रबंधक और एकाउंटेंट कैंटिन ब्वॉय पंकज के इशारे पर नाचते थे।
जांच में पता चला है कि पंकज मणि त्रिपाठी के भाई तेज मणि, बहन धारा त्रिपाठी और पिता गिरिजेश मणि एसबीआई के ग्राहक सेवा केंद्र का संचालन करते हैं। खाताधारक ने पहले पंकज के खिलाफ ही एफडी की रकम हड़पने की शिकायत की थी, इसके बाद जांच में शाखा प्रबंधक और एकाउंटेंट की मिलीभगत का खुलासा हुआ है।
पीपीगंज पुलिस ने वर्तमान शाखा प्रबंधक दीपक कुमार की तहरीर पर तत्कालीन शाखा प्रबंधक कुमार भाष्कर भूषण और एकाउंटेंट अमरेंंद्र कुमार सिंह और कैंटीन ब्वॉय पंकज मणि त्रिपाठी के खिलाफ धारा 409, 419, 420, 467, 468, 471, 120 बी में केस किया है।
वर्तमान शाखा प्रबंधक ने तहरीर में बताया है कि एक जनवरी को जंगल कौड़िया शाखा के खाताधारक राजू सिंह ने क्षेत्रीय कार्यालय तारामंडल में शिकायत की थी। आरोप था कि कैंटिन ब्वॉय पंकज ने उसके खाते से जुड़ी तीन लाख की एफडी फर्जी तरीके से दूसरे खाते में भेजकर निकाल ली है।
इसके बाद जांच के लिए उच्च अधिकारियों की एक टीम बनी। टीम ने मंगलवार को जांच रिपोर्ट सौंपी, इसके बाद एफआईआर कराया गया है।

जांच पड़ताल करने के बाद अधिकारियों को पता चला कि शिकायतकर्ता खाताधारक राजू सिंह ही नहीं बल्कि 12 से अधिक लोगों के साथ फर्जी तरीके से एफडी समेत अन्य भुगतान हुआ है। इतना ही नहीं बहुत लोगों के नाम से किसान क्रेडिट कार्ड, पेंशन लोन फर्जी तरीके से निकाले गए हैं। अभी तक की जांच में 80 लाख रुपए की जालसाजी सामने आई है। जांच अभी जारी है, आगे चलकर यह रकम और बढ़ सकती है।
एसपी उत्तरी जितेंद्र कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि बैंककर्मी की तहरीर के आधार पर केस दर्ज कर लिया गया है। साक्ष्यों के आधार पर मामले की जांच कर अग्रिम कार्रवाई की जाएगी।

Hindi News/ Gorakhpur / कैंटीन ब्वॉय निकला SBI में हुई 80 लाख की जालसाजी का मास्टर माइंड

ट्रेंडिंग वीडियो