इस नेता को यूपी कांग्रेस में बड़ी जिम्मेदारी, प्रदेश की सभी जिला कमेटियों को भी भंग किया गया

 

मिशन 2022 के लिए तैयारी में जुटी कांग्र्र्रेस

यूपी कांग्रेस में व्यापक फेरबदल कर दिए गए हैं। प्रदेश की सभी जिला कमेटियों को भंग कर दिया गया है। पूर्वांचल में संगठन के पुनर्गठन की जिम्मेदारी यूपी कांग्रेस विधानमंडल के नेता अजय कुमार लल्लू को दी गई। कांग्रेस ने आगामी विधानसभा चुनावों के लिए अपनी रणनीति में भी व्यापक बदलाव किया है।

यह भी पढ़ें- लोकसभा चुनाव में प्रचंड जीत में निभार्इ थी महत्वपूर्ण भूमिका, अब बीजेपी भेज रही घर


अजय कुमार लल्लू कुशीनगर जिले के तमकुहीराज विधानसभा क्षेत्र से विधायक हैं। दो बार से लगातार विधानसभा में पहुंच रहे लल्लू युवा विधायकों में शुमार हैं। सांगठनिक कार्याें में दक्ष अजय कुमार लल्लू लोकसभा चुनावों में भी काफी सक्रिय रहे हैं। वर्तमान में वह कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता हैं।
बता दें कि पूर्वांचल की प्रभारी कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी हैं। प्रियंका गांधी की रिपोर्ट पर आल इंडिया कांग्रेस कमेटी ने कई सुझावोें को स्वीकार किया है। जिला कमेटियों का नए सिरे से गठन, 2022 के विधानसभा चुनावों के लिए सांगठनिक स्तर पर विधानसभावार समीक्षा करना इन्हीें सुझावों में से एक है। फिलहाल, सक्रिय रहने वाले विधायक अजय कुमार लल्लू को पूर्वांचल में संगठन को मजबूत करने की जिम्मेदारी से कांग्रेस संगठन का धरातल पर दिखने की उम्मीद पुराने कांग्रेसी लगाए हैं।

यह भी पढ़ें- एसएसपी आॅफिस का घूसखोर क्लर्क चढ़ा एंटी-करप्शन के हत्थे, घूस लेते रंगे हाथ गिरफ्तार

ajay kumar lallu

उपचुनाव वाले विधानसभा क्षेत्रों की तैयारी व प्रबंधन के लिए दो दो लोग लगाए जाएंगे

कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव केसी वेणु गोपाल ने पत्र जारी कर सभी जिला कमेटियों को भंग करने के साथ विधानसभावार दो दो लोगों को तैनात करने का भी निर्देश दिया है। ये लोग विधानसभा क्षेत्र में चुनावी तैयारी व प्रबंधन के लिए जिम्मेदार होंगे। जहां जहां उप चुनाव होने वाले हैं वहां तत्काल प्रभाव से दो दो लोगों को जिम्मेदारी देने का निर्देश दिया गया है।

यह भी पढ़ें- वीर बहादुर ने देखा था एक सपना तीन दशक बाद योगी आदित्यनाथ की कैबिनेट ने पूरा किया

तीन सदस्यीय टीम करेगी लोकसभा चुनावों की क्षेत्रवार समीक्षा, शिकायतें भी सुनेंगी कमेटी

लोकसभा चुनाव की क्षेत्रवार समीक्षा की जाएगी। इसके लिए तीन सदस्यीय कमेटी का गठन किया जाना है। यह कमेटी लोकसभावार कार्यकर्ताओं/पदाधिकारियों की शिकायतें सुनेंगी। उस फीडबैक के हिसाब से रिपोर्ट तैयार करेगी।

यह भी पढ़ें- सात साल की बच्ची का किया अपहरण, रेप के बाद कर दी हत्या

Show More
धीरेन्द्र विक्रमादित्य
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned