सीएम योगी आदित्यनाथ ने बताया अभिनंदन की जल्द वापसी की यह है थी वजह


सीएम इन गोरखपुर

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आमजन के जीवन में परिवर्तन लाने का कृषि विज्ञान केन्द्र सशक्त माध्यम है। शासन की योजनाओं का लाभ किसानों को मिले और उन्हें तकनीकी जानकारी प्राप्त हो, इस उद्देश्य से केन्द्र सरकार द्वारा प्रदेश के अन्दर 20 नये कृषि विज्ञान केन्द्र दिये है जिससे किसानों के जीवन में व्यापक परिवर्तन लाया जा सकता है।
मुख्यमंत्री योगी, कृषि एवं केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री राधामोहन सिंह के साथ शनिवार को महायोगी गोरखनाथ कृषि विज्ञान केन्द्र चैक माफी (पीपीगंज) के प्रशासनिक भवन का लोकार्पण तथा दो दिवसीय पूर्वान्चल किसान मेला एवं कृषि प्रदर्शनी का उद्घाटन करने पहुंचे थे। कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री एवं केन्द्रीय कृषि मंत्री द्वारा महायोगी गोरखनाथ कृषि विज्ञान केन्द्र एक नजर में तथा गोरखनाथ कृषि दर्पण पत्रिका का लोकार्पण करने के साथ ही कृषि विज्ञान केन्द्र की वेबसाइट को लान्च किया इसके साथ ही 5-5 किसानों को मृदा परीक्षण कार्ड तथा मृदा स्वास्थ्य कार्ड भी प्रदान किया।
मुख्यमंत्री ने कहा कि विकास सरकार की प्राथमिकता है, कृषि विज्ञान केन्द्र किसानों जीवन में सही तकनीक, समय पर बीज एंव उन्हें समयबद्ध ढंग से शासन की योजना का लाभ दे सके, निश्चित रूप से किसानों के जीवन में व्यापक परिवर्तन लाया जा सकता है जिससे उनका जीवन खुशहाल होगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि कृषि विज्ञान केन्द्र कम से कम दो दो गांव को गोद लेकर कृषकों को प्रशिक्षित करें, निश्चित रूप इससे किसानों में तकनीकी कृषि की जानकारी बढ़ेगी और उनका उन्नयन होगा। उन्होंने कहा कि विकास की योजनाओं को सही मायने में आत्मसात करने की आवश्यकता है। किसानों के उत्पादन की उत्पादकता में न्यूनतम समर्थन मूल्य के माध्यम से दिया जा रहा है।
सीएम योगी आदित्यनाथ ने भारत के विंग कमांडर अनिभनंदन की सकुशल वापसी पर प्रसन्नता जाहिर की। उन्होंने कहा कि हर कोई देखा है कि पहली बार हमने पाकिस्तान की धरती पर पाकिस्तानी फाइटर विमान को मार गिराया और तीन दिनोें के अंदर अपने वीर पायलट को सुरक्षित वापस लाया। यह एक मजबूत और दृढ़ इच्छाशक्ति वाली सरकार
से ही संभव हो सका है।

krishi vigyan kendra

केन्द्रीय कृषि मंत्री राधा मोहन सिंहने कहा कि किसानों को मजबूत बनाने एवं उनकी आय बढ़ाने हेतु नई तकनीकी की आवश्यकता है और इस उद्देश्य की पूर्ति में कृषि विज्ञान केन्द्र की बड़ी भूमिका है। कृषि विज्ञान केन्द्र सभी ज्ञान देता है। उन्होंने कृषि वैज्ञानिकों को निर्देश दिये कि वे टीम बनाकर गांव को गोद लें और उन्हें कृषि की नई तकनीक के बारे में बतायें। कृषि विज्ञान केन्द्र एक या दो एकड़ का माडल तैयार करे जिससे किसान देखें की उन्नति फसल किस तरह तैयार किया जाता है, धन की कमी आड़े नही आयेगी, किसानों की उन्नति सरकार की प्रतिबद्धता है।
प्रदेश के कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने कहा कि कृषि विज्ञान केन्द्र द्वारा जो प्रोजेक्ट संचालित होंगे वह किसानों की आय, उत्पादन, उत्पादकता बढ़ाने में सहायक होगा। सरकार की प्राथमिकता खेती एवं किसान है। विधायक फतेह बहादुर सिंह ने अतिथियों का स्वागत करते हुए कहा कि किसानों की आय दोगुना करने में कृषि विज्ञान केन्द्र काफी उपयोगी सिद्ध होगा।
उप महा निदेशक कृषि प्रसार नई दिल्ली डाॅ. एके सिंह ने कहा कि यह कृषि विज्ञान केन्द्र रिसर्च सेन्टर एवं स्त्रोत का कार्य करेगा।
इस अवसर पर जिलाध्यक्ष जनार्दन तिवारी, मण्डलायुक्त अमित गुप्ता, जिलाधिकारी के. विजयेन्द्र पाण्डियन आदि मौजूद रहे।

 

 

Show More
धीरेन्द्र विक्रमादित्य
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned