मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इस विदेशी मेहमान के साथ करेंगे ताजमहल का दीदार

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इस विदेशी मेहमान के साथ करेंगे ताजमहल का दीदार

Dheerendra Vikramadittya | Publish: Jan, 14 2018 08:08:08 AM (IST) Gorakhpur, Uttar Pradesh, India

ताजमहल को योगी आदित्यनाथ संस्कृति का हिस्सा मानने से कर चुके हैं पूर्व में इनकार, यूपी के हेरीटेज कैलेंडर से भी बाहर किया जा चुका है

गोरखपुर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रविवार को आगरा का ताजमहल देखने जाएंगे। प्रेम के प्रतीक ताजमहल को वह इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के साथ देखने जाएंगे।
नेतान्याहू रविवार को भारत की छह दिवसीय दौरे पर आ रहे हैं। इसदौरान उनके आगरा आने का भी कार्यक्रम में है। रविवार को इजरायली प्रधानमंत्री आगरा में होंगे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उनका स्वागत करने वहां मौजूद रहेंगे। उनके साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ताजमहल का दीदार करने जाएंगे।
बता दें कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कुछ महीने पूर्व दिए अपने बयान में ताजमहल को भारतीय संस्कृति का प्रतीक मानने से इनकार कर दिया था। उन्होंने इसे महज एक ईंट-पत्थरों वाली इमारत बताया था। प्रदेश द्वारा जारी हेरीटेज कैलेंडर में प्रदेश की सांस्कृतिक पहचान वाले सभी स्थलों को शामिल किया गया था लेकिन विश्व में अलग पहचान रखने वाले ताजमहल को इसमें शामिल नहीं किया गया था। हालांकि, जब इस पर सियासी तूफान मचा तो प्रदेश सरकार बैैकफुट पर आ गई। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने खुद कहा कि ताजमहल भारतीयो ंके खून-पसीना से खड़ा किया है। यह भारतीय मेहनत एवं कला का प्रतीक है। मुख्यमंत्री सियासी तूूफान को शांत करने के लिए आगरा जाकर ताजमहल के पास स्वच्छता अभियान भी चला चुके हैं।
इस बार वह विदेशी मेहमान के साथ ताजमहल का दीदार करेंगे। सनद रहे कि भारत-इजरायल इन दिनों जल संरक्षण, कृषि और कृषि यांत्रिकी में एक दूसरे के सहयोग के लिए आगे बढ़ रहे हैं। पीएम मोदी जब इजरायल यात्रा पर थे तो इजरायल के साथ जलसंरक्षण के मुद्दे पर एमओयू भी साइन हुआ था। दोनों देशों ने जलसंरक्षण पर एकदूसरे के सहयोग के लिए हाथ मिलाया था।

सिद्धारमैया पर फिर साधा निशाना, बताया हिंदू विरोधी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर में भी कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि हिंदुओं को आतंकवादी कह कर सिद्धारमैया स्वयं कटघरे में हैं। इस देश का हिंदू कभी कट्टर नहीं हो सकता। हिंदू तो सबसे उदार और कर्तव्यनिष्ठ जीवन पद्धति है। जो भी इसकी शरण में आया है, उसका होकर रह गया है। ऐसी पद्धति को नक्सलवाद और आतंकवाद से जोड़ना हिन्दुत्व का अपमान है जिसका जवाब कर्नाटक की जनता देगी।
गोरखपुर महोत्सव के समापन कार्यक्रम के पूर्व बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की अगुवाई में कर्नाटक में भी प्रचंड बहुमत से जीत हासिल होगी और वहां भी भाजपा सरकार बनाएगी।

 

 

 

Ad Block is Banned