कांग्रेस ने बसपा को मिली सीटों संतकबीरनगर व बांसगांव से उतारे प्रत्याशी, जानिए क्या प्रभाव डालेंगे कांग्रेस प्रत्याशी

कांग्रेस ने बसपा को मिली सीटों संतकबीरनगर व बांसगांव से उतारे प्रत्याशी, जानिए क्या प्रभाव डालेंगे कांग्रेस प्रत्याशी

Dheerendra Vikramadittya | Updated: 14 Mar 2019, 01:11:24 PM (IST) Gorakhpur, Gorakhpur, Uttar Pradesh, India

मायावती के ऐलान के बाद कांग्रेस ने किया पलटवार, सपा-बसपा गठबंधन में बसपा कोटे की संत कबीर नगर और बाँसगाँव लोकसभा सीट पर कांग्रेस ने घोषित किये अपने उम्मीदवार

गोरखपुर। कांग्रेस का महागठबंधन में शामिल होने की आस करीब करीब क्षीण हो चुकी है। कांग्रेस ने अपनी दूसरी लिस्ट में बसपा के खाते में गई गोरखपुर की दो सीटों पर प्रत्याशी उतार दिए हैं। संतकबीरनगर से कांग्रेस ने अपने जिलाध्यक्ष परवेज खान को प्रत्याशी बनाया है। जबकि बांसगांव सुरक्षित लोकसभा सीट से कुश सौरभ प्रत्याशी होंगे।
बांसगांव सुरक्षित सीट गोरखपुर जिले का हिस्सा है। नए परिसीमन में यह क्षेत्र देवरिया, बलिया आंशिक क्षेत्र से भी जुड़ता है। बांसगांव सीट वर्तमान में भाजपा के पास है। यहां से कमलेश पासवान दो बार से विधायक चुने जा रहे हैं। कमलेश की मां सुभावती पासवान भी यहां से समाजवादी पार्टी से सांसद रह चुकी हैं।
सपा बसपा महागठबंधन में यह सीट बसपा के पास चली गई थी। बहुजन समाज पार्टी ने पूर्व विधायक दूधराम को यहां से प्रत्याशी बनाया है। अब कांग्रेस ने भी कुश सौरभ को अपना प्रत्याशी बनाने का ऐलान किया है।
उधर, संतकबीरनगर से कांग्रेस ने अपने जिलाध्यक्ष परवेज खान को प्रत्याशी बनाया है। संतकबीरनगर सीट भी भाजपा के पास है। इस सीट से शरद त्रिपाठी भाजपा के सिंबल पर सांसद चुने गए थे। 2009 में पूर्व मंत्री हरिशंकर तिवारी के बड़े सुपुत्र कुशल तिवारी बहुजन समाज पार्टी से सांसद बने थे लेकिन 2014 का चुनाव वह हार गए थे। इस बार यह सीट बसपा के पास समझौते में चली गई है। बसपा ने कुशल तिवारी पर फिर से दांव लगाया है।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned