मुख्यमंत्री के शहर में वर्दीधारियों पर गैंगरेप का आरोप: कांग्रेस ने शुरू किया धरना, थाने को निलंबित करने की मांग

Gorakhpur: gangrape allegation on policemen

मुख्यमंत्री के शहर में सरेराह युवती को अगवा कर गैंगरेप करने वाले पुलिसवालों के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर कांग्रेस ने धरना शुरू कर दिया है। जिलाधिकारी कार्यालय पर धरना दे रहे कांग्रेसी कार्यकर्ताओं का कहना है कि मुख्यमंत्री के शहर में कानून के रखवाले यह घिनौनी हरकत करेंगे तो आमजन खुद को कैसे सुरक्षित महसूस करेगा। जिलाध्यक्ष निर्मला पासवान की अगुवाई में धरनारत कार्यकर्ताओं की मांग है कि पूरे थाने को निलंबित कर जांच की जाए। धरना तबतक खत्म नहीं होगा जबतक पीड़िता को इंसाफ नहीं मिल जाता।

यह है मामला

शहरके गोरखनाथ क्षेत्र से एक युवती को सिपाहियों ने अगवा कर सामूहिक दुष्कर्म किया। युवती जब प्रतिरोध करती तो आरोपी वर्दी वाले दरिंदे उसके साथ मारपीट किये। उनकी चंगुल से देर रात छूटी युवती किसी तरह घर पहुंची और परिजन को आपबीती बताई। मामला सामने आने के बाद वरिष्ठ पुलिस कप्तान फिलहाल जांच की बात कह रहे। हालांकि, युवती शुक्रवार की देर शाम जब अस्पताल पहुंची तो पुलिस हरकत में आई। आननफानन में सीओ कोतवाली वीपी सिंह ने युवती को मेडिकल के लिए भेजवाने के साथ उसका बयान भी लिया। पुलिस ने अज्ञात पुलिसवालों पर केस दर्ज कर लिया है।

जानकारी के मुताबिक शहर के शाहपुर इलाके की रहने वाली 24 वर्षीय युवती ट्यूशन पढ़ाती है। वह अपने चार भाई-बहनों में सबसे छोटी है। बताया जा रहा कि गुरुवार को वह अपनी मां के साथ बहन के घर गई थी। युवती के मुताबिक वहां कुछ कहासुनी के बाद वह नाराज होकर घर के लिए निकली। युवती के अनुसार उसकी माँ भी पीछे पीछे आ रही थी। इसी दौरान उसके पास दो सिपाही आये। बकौल युवती, सिपाही बोले तुम धंधा करती हो। और उसे बाइक पर बिठा लिए। पीड़िता के मुताबिक जब उसकी माँ साथ चलने को बोली तो उसे गाली देकर भगा दिया। पीड़िता के मुताबिक दोनों सिपाही उसे जबरिया रेलवे स्टेशन के पास स्थित एक कमरे में ले गए। वहां दोनों ने दुष्कर्म किया। जब उसने घर जाने देने की बात कही तो दोनों उसे बुरी तरह पीटने लगे। बाद में रात करीब एक बजे 600 रुपये देकर जाने को कहा। युवती ने जब कहा कि घर कैसे जाएंगे, तो वह फिर गाली देने लगे और भगा दिया।

धीरेन्द्र विक्रमादित्य Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned