गोरखपुर में बनेगा कोरोना जांच के लिए पूर्वांचल का सबसे अत्याधुनिक लैब, 24 घंटे में होगी 1000 नमूनों की जांच

गोरखपुर में बनेगी पूर्वांचल की पहली बीएसएल थ्री लैब।

बीएसएल थ्री लैब में होगी एडवांस लेवल की अत्याधुनिक कोबास मशीनें।

अभी तक लखनऊ के KGMU और PGI में ही है इतनी अधुनिक लैब।

गोरखपुर. कोरोना वायरस महामारी से जंग में पूर्वांचल में गोरखपुर की भूमिका और बड़ी होने वाली है। यहां जल्द ही बायो सेफ्टी लैब लेवल थ्री का निर्माण किया जाएगा। इस लैब के तैयार हो जाने के बाद 24 घंटे में 1000 लोगों की कोरोना की जांच की जा सकेगी। इतना ही नहीं इस अडवांस लैब में कोरोना के साथ ही इनसेफ़ेलाईटिस और चिकनगुनिया जैसी बीमारियों की जांच भी की जा सकेगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की पहल पर इस लैब को मंजूरी भी मिल गयी है। बीएसएल थ्री (बायो सेफ्टी लेवल थ्री) लैब बीआरडी मेडिकल कॉलेज में तैयार होगी। लैब को तैयार करने का काम एल ऐंड टी को सौंपा गया है।

 

अत्याधुनिक कोबास मशीनों से लैस होगी लैब

बीआरडी मेडिकल कॉलेज में बनने वाली बायो सेफ्टी लैब लेवल थ्री लैब एडवांस लेवल की कोबास मशीनों से लैस होगी। लैब में कोरोना, इंसेफेला‌इटिस, चि‌कनगुनिया जैसी बीमारी की जांच हो सकेगी। बीएसएल थ्री लैब और कोबास मशीनों के मिल जाने के बाद मेडिकल कॉलेज के माइक्रोबॉयोलॉजी विभाग की टीम लैब में कोरोना सहित अन्य गंभीर बीमारियों की जांच असानी से कर सकेगी।

 

कैसा होगा बीएसएल थ्री लैब

बीआरडी मेडिकल कॉलेज में तैयार होने वाली बायो सेफ्टी लेवल थ्री लैब पूरी तरह से एडवांस होगी। लैब में संक्रमण का खतरा नहीं होगा। क्योंकि इसमें हवा फ़िल्टर होकर अंदर जाएगी और इसी तरह फ़िल्टर होकर ही बाहर निकलेगी। क्योंकि ये हवाएं एक-दूसरे के संपर्क में नहीं आती इसलिए इससे इन्फेक्शन का खतरा नहीं रहता। यही नहीं इसमें हर जांच के लिए पूरी तरह से एयर प्रूफ अलग-अलग क्यूब बने होते हैं। इसी के ज़रिये लैब में जांच होती है। विशेष पीपीई किट, गलब्स, फेस मास्क पहनकर ही लैब में जांच की जाती है। इससे लैब में संक्रमण का डर भी नहीं रहता।

अभी सिर्फ केजीएमयू और पीजीआई में हैं ऐसा लैब

बीएसएल थ्री लैब तैयार हो जाने के बाद बीआरडी मेडिकल कॉलेज लैब के मामले में लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल कॉलेज और पीजीआई में ही ऐसा लैब है। अब इसमें बीआरडी मेडिकल कॉलेज गोरखपुर का नाम भी जुड़ जाएगा। पूर्वांचल में यह अपनी तरह का अकेला लैब होगा।

जांच में आएगी तेज़ी, बीमारियों पर हो सकेगा शोध

बीआरडी मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ. गणेश कुमार का कहना है कि एडवांस लेवल की बीएसएल थ्री लैब बनने के बाद कोरोना सहित अन्य बीमारियों की जांच में तेजी आएगी। साथ ही विशेषज्ञ ‌बीमारियों पर शोध भी कर सकेंगे।

coronavirus
रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned