घर बैठे परीक्षा लेगा ये विश्वविद्यालय, मोबाइल से भी दे सकेंगे परीक्षा

  • गोरखपुर विश्वविद्यालय ने कोविड 19 को देखते हुए लिया है फैसला
  • 10 जनवरी को होगी DDU Gorakhpur University की शोध पात्रता परीक्षा (रेट 2020-21)

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

गोरखपुर. आईआईटी (IIT) और एनआईआईटी (NIIT) की तर्ज पर दीन दयाल उपाध्याय विश्वविद्यालय गोरखपुर (DDU Gorakhpur University) घर बैठे परीक्षा कराने जा रहा है। गोरखपुर युनिवर्सिटी की ओर से आयोजित की जाने वाली शोध पात्रता परीक्षा (रेट 2020-21) अभ्यर्थी घर बैठे ऑनलाइन दे सकेंगे। रेट की परीक्षा 10 जनवरी को आयोजित होगी, जिसमें करीब 5000 विद्यार्थी शामिल होंगे। विश्वविद्यालय का दावा है कि घर बैठे परीक्षा देने का अवसर देने वाला गोरखपुर विश्वविद्यालय देश का पहला विश्वविद्यालय है। इसके लिये अभ्यर्थियों को युनिवर्सिटी की ओर से जारी गाइडलाइन का पालन करना होगा। ऑनलाइन परीक्षा (Online Exam) में उनपर पूरी निगरानी रखी जाएगी। 10 जनवरी को आयोजित होने वाली परीक्षा में होम बेस्ड रिमोर्ट प्राॅक्टर्ड (Home Based Remote Proctored) विधि का इस्तेमाल होगा। विश्वविद्यालय ने कोविड 19 के चलते ऑनलाइन मोड में कराने की तैयारी पूरी कर ली है।

इसे भी पढ़ें- डीडीयू को जल्द ही 63 नए पाठ्यक्रम, कार्य परिषद की बैठक में 5 नए इस्टीट्यूट और 13 नए सेंटर्स को भी मंजूरी

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का होगा इस्तेमाल

विश्वविद्यालय ऑनलाइन परीक्षा के लिये उन्नत तकनीक का इस्तेमाल करेगा। कुलपति प्रो राजेश सिंह ने बताया है कि परीक्षा की शुचिता को बनाए रखने के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस ( Artificial intelligence) के साथ ह्यूमन प्राॅक्टरिंग (Humen Proctoring) का इस्तेमाल होगा। इसके जरिये अभ्यर्थियों पर नजर रखी जाएगी।

इसे भी पढ़ें- गोरखपुर के साइंटिस्ट एनबी सिंह का दुनिया में मना लोहा, विश्व के दो प्रतिशत पदार्थ वैज्ञानिकों की सूची में शामिल

पूरी करनी होंगी कुछ औपचारिकताएं

अभ्यर्थियों को अपना स्कैन किया हुआ फोटो पहचानपत्र, रेट पंजीकरण संख्या के साथ विश्वविद्यालय की मेल आईडी [email protected] com पर भेजना होगा। अभ्यर्थी परीक्षा शुरू होने से आधा घंटा पहले लाॅगिन (Login) करेंगे। वेरिफिकेशन के लिये अभ्यर्थियों को अपने दस्तावेजों की हार्डकाॅपी (मूल) कैमरे पर दिखाा होगा। दस्तावेज सत्यापन के बाद ही अभ्यर्थी रेट की ऑनलाइन परीक्षा में शामिल हो हो पाएंगे। परीक्षा में शामिल होने के दौरान इस बात का खास ख्याल रखना होगा कि उनका चेहरा स्पष्ट रूप से दिखाई दे।

इसे भी पढ़ें- 12वीं के छात्र ने बनाई स्मार्ट बाइक, बिना हेलमेट और शराब के नशे में नहीं होगी स्टार्ट

कैमरे से हुई छेड़छाड़ तो होंगे बाहर

परीक्षा के दौरान अभ्यर्थी को बोलने या बात करने की इजाजत नहीं होगी। इस दौरान कैमरे से छेड़छाड़ करने पर उसे परीक्षा से निष्कासित कर दिया जाएगा। परीक्षा के आखिर में उत्तर जमा करने के लिये सबमिट बटन क्लिक करना होगा।

इसे भी पढ़ें- गोरखपुर युनिवर्सिटी में 32 साल तक संस्कृत पढ़ाने वाले प्रो. असहाब अली नहीं रहे, हाई स्कूल में ही पढ़ चुके थे रामायण महाभारत

डेढ़ घंटे में 70 सवाल

रेट ऑनलाइन परीक्षा में अभ्यर्थियों को 70 बहुविकल्पिय सवालों के जवाब देने होंगे। सके लिये उन्हें डेढ़ घंटे का समय मिलेगा। 70 सवालों में से 35 रिसर्च मेथोडोलॉजी (Research Methodology) और 35 उनके विषय से संबंधित सवाल पूछे जाएंगे। इस दौरान पूरी शुचिता बनाए रखना अभ्यर्थी की जिम्मेदारी होगी।

इसे भी पढ़ें- इंटरनेशनल यूथ मैथ चैलेंज में गोरखपुर विश्वविद्यालय के चार मेधावियों को सिल्वर मेडल

मोबाइल से भी दे सकेंगे परीक्षा

अभ्यर्थी चाहें तो लैपटॉप, डेस्क्टॉप या फिर मोबाइल (Mobile) से भी परीक्षा दे सकेंगे। यदि अभ्यर्थी परीक्षा देने के लिए मोबाइल फोन को उपयोग करते हैं तो उन्हें एक अतिरिक्त मोबाइल यानी दो स्मार्ट फोन पास रखना होगा। जिससे वो कैमरा और माइक्रोफोन को ऑन करके गूगल मीट से जुड सकें तथा दूसरे मोबाइल से परीक्षा में शामिल हो सकें। इसके लिए अभ्यर्थियों को पोर्टल पर पंजीकरण करना होगा। जिसके बाद उन्हें यूजर आईडी और पासवर्ड की सूचना ईमेल या SMS के माध्यम से भेजी जाएगी। निर्धारित तिथि और समय पर अभ्यर्थी को अपने लैपटाॅप या डेस्कटाॅप या मोबाइल से लाॅग इन करना होगा।

इसे भी पढ़ें- गोरखपुर युनिवर्सिटी हाॅस्टल प्रकरणः छात्रों ने अर्धनग्न कुलपति आवास पर किया प्रदर्शन

सख्ती से करना होगा इनका पालन

  • परीक्षा खत्म होने तक अभ्यर्थी लैपटाॅप/डेस्कटाॅप/मोबाइल के कैमरे के सामने से नहीं हटेगा
  • अभ्यर्थी चेहरा स्पष्ट रूप से दिखना चाहिये
  • परीक्षा के दौरान अभ्यर्थी के आसपास कोई और मौजूद नहीं होना चाहिये
  • परीक्षा के दौरान ब्रेक नहीं मिलेगा, बाथरूम भी नहीं जा सकेंगे
  • मोबाइल, लैपटाॅप और डेस्कटाॅप में कोई और विंडो खोलने पर रोक होगी
  • दो जीबी इंटरनेट डेटा जरूरी, जिसकी स्पीड 5एमबीपीएस तक हो
  • अभ्यर्थी को परीक्षा में शामिल होने के लिये मूल फ़ोटो पहचान पत्र दिखाना होगा जो स्कैन कॉपी के रूप में ई मेल पर भेजा है
Show More
रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned