कुलपति ने तनावमुक्त माहौल में परीक्षा में बैठने को दिए टिप्स

डीडीयू कुलपति प्रो.वीके सिंह की क्लास

दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विवि के कुलपति प्रो.वीके सिंह ने कहा कि विद्यार्थी तनाव मुक्त होकर आत्मविश्वास के साथ संयत मन से परीक्षा दें। समय प्रबंधन और परिश्रम के आधार पर ही उत्कृष्ट परिणाम पाया जा सकता है। शैक्षिक यात्रा का एक पड़ाव है परीक्षा। हमारे यहाँ गुरुकुल की लंबी परम्परा रही है, जिसके अंतर्गत भी ज्ञान अर्जन के पश्चात ज्ञान को प्रदर्शित किया जाता है।

वह शुक्रवार को वार्षिक परीक्षा 2020 के दृष्टिगत संवाद भवन में आयोजित 'परीक्षा संवाद: विद्यार्थियों के लिए प्रेरणा सत्र' कार्यक्रम में छात्र-छात्राओं को संबोधित कर रहे थे ताकि वे तनावमुक्त होकर तैयारी कर सके एवं परीक्षा दे सकें।

प्रो.सिंह ने कहा कि परीक्षा के माध्यम से अच्छी परफॉरमेंस देनी होती है, लेकिन यह आपके सम्पूर्ण ज्ञान का मूल्यांकन नहीं करता, इसलिए क्षणिक सफलता या असफ़लता से आगे बढ़कर नई चुनौतियों के समक्ष खुद को तैयार करिए। कोई असफलता अंतिम नहीं होती, सफलता से भी लेनी चाहिए सीख।

कुलपति प्रो. विजय कृष्ण सिंह ने कहा कि परीक्षा फोबिया से बचते हुए अपनी लर्निंग प्रोसेस को मजबूत बनाइये और अपने कंसेंट्रशन लेवल को हाई रखिये सफलता स्वतः प्राप्त होगी। असफलता से कभी घबराइए नहीं, बल्कि इसे एक सीख मानकर अगली परीक्षा में बेहतर प्रदर्शन का प्रयास करिये।

कुलपति ने तनावमुक्त माहौल में परीक्षा में बैठने को दिए टिप्स

कार्यक्रम समन्वयक प्रो. अजय कुमार शुक्ला ने कहा कि वैदिक काल में भी कुलगुरु से आर्शीवाद प्राप्त करने की परंपरा रही है, उसी अनुक्रम में आज के कार्यक्रम के माध्यम से विद्यार्थियों को प्रेरणा मिलेगी। फेस एवरीथिंग एंड राइज के मंत्र के साथ चुनौतियों पर विजय हासिल होगा।

कुलसचिव डॉ. ओमप्रकाश ने कहा कि छात्र जीवन का संघर्ष ही आपके भविष्य को सुखमय बनाया जा सकता है।

आभार ज्ञापन करते हुए परीक्षा नियंत्रक डॉ. अमरेंद्र कुमार सिंह ने कहा कि इसी सप्ताह विश्वविद्यालय द्वारा हेल्पलाइन नंबर जारी कर दिया जाएगा, जिसके माध्यम से छात्रों को समस्याओं के निवारण और सुझाव में सहयोग मिलेगा।

कार्यक्रम में प्रतिकुलपति प्रो. हरिशरण और क्षेत्रीय उच्च शिक्षा अधिकारी डॉ. अश्विनी मिश्रा ने संबोधित किया। संचालन डॉ. मनीष पाण्डेय ने किया।

इस दौरान प्रो. जितेंद्र मिश्रा, प्रो. डीएन यादव, प्रो. हर्ष सिन्हा, प्रो. नंदिता सिंह, प्रो. शिखा सिंह, प्रो. विनय कुमार सिंह, डॉ. सुधाकर लाल श्रीवास्तव, प्रो संजय बैजल, डॉ. राजवीर सिंह, डॉ अमित उपाध्याय, डॉ टीएन मिश्रा, डॉ आशीष शुक्ला, डॉ पंकज सिंह, डॉ मीतू सिंह, डॉ लक्ष्मी मिश्रा, डॉ महेंद्र सिंह, पीएन सिंह, महेंद्र सिंह, डॉ हर्ष देव वर्मा, डॉ. जीपी सिंह, डॉ देवेंद्र पाल, डॉ स्वेता, डॉ अभय चंद मल्ल, डॉ. शिवपूजन सिंह, डॉ. प्रदीप कुमार, डॉ. विजय चहल, डॉ.धर्मेंद्र, अश्विनी त्रिपाठी, झुम्पा मंडल सरकार, दिव्या शर्मा, श्वेता पटेल आदि मौजूद रहे।

धीरेन्द्र विक्रमादित्य Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned