गोरखनाथ खिचड़ी मेलाः मध्यरात्रि में नेपाल राजवंश की खिचड़ी चढ़ने के बाद लोग चढ़ाएंगे खिचड़ी

Dheerendra Vikramdittya

Publish: Jan, 14 2018 05:18:25 (IST)

Gorakhpur, Uttar Pradesh, India
गोरखनाथ खिचड़ी मेलाः मध्यरात्रि में नेपाल राजवंश की खिचड़ी चढ़ने के बाद लोग चढ़ाएंगे खिचड़ी


गोरक्षपीठाधीश्वर योेगी आदित्यनाथ के पूजन अर्चन के बाद शुरू होगा खिचड़ी चढ़ाने सिलसिला

गोरखपुर। पूर्वी उत्तर प्रदेश के आस्था के सबसे बड़े केंद्रों में एक गोरखनाथ मंदिर का खिचड़ी मेला कल से प्रारंभ होगा। सवा महीने से ज्यादा चलने वाले इस मेले की तैयारियांे को अंतिम रूप दे दिया गया है। स्वयं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने तैयारियों का जायजा लिया और खामियों को दुरुस्त कराया। रविवार से ही हजारों लोग शहर में खिचड़ी चढ़ाने पहुंचने लगे हैं।
सोमवार की भोर में गोरक्षपीठाधीश्वर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा पारंपरिक पूजन के पश्चात खिचड़ी चढ़ाई जाएगी। मंदिर में परम्परानुसार पहली खिचड़ी नेपाल राजवंश का चढ़ेगा। इसके पश्चात दूर दराज से आए श्रद्धालु खिचड़ी चढ़ाकर गुरु गोरखनाथ का आशीर्वाद लेंगे।
गोरखनाथ के प्रसिद्ध खिचड़ी मेला में यूपी, बिहार ही नहीं नेपाल तक के श्रद्धालुओं का रेला खिचड़ी चढ़ाने आता है। खिचड़ी चढ़ाने आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या की बात करें तो यह संख्या लाखों में पहुंच जाती है। आस्था, परम्परा और उत्साह के संगम वाले इस मेले को सकुशल सम्पन्न कराने के लिए कई महीने पहले से ही मंदिर प्रशासन और जिला प्रशासन तैयारियों में जुट गया था।

मंदिर के मेला क्षेत्र को चार जोन में बांट कर पुख्ता सुरक्षा बंदोबस्त

गोरखनाथ मंदिर के सुप्रसिद्ध खिचड़ी मेले में आने वाले लोगों को कोई दिक्कत न हो और मंदिर क्षेत्र की सुरक्षा में किसी प्रकार की खामी न रहे इसके लिए सुरक्षा की चाकचैबंद व्यवस्था की गई है। मंदिर क्षेत्र को चार जोन और 11 सेक्टर में बांटा गया है। करीब 30 सीसीटीवी कैमरे मंदिर परिसर के विभिन्न हिस्सों में लगाए गए हैं। श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए धर्मशाला और गोरखनाथ मंदिर के पास कंट्रोल रूम बनाया गया है। अराजक तत्वों पर नजर रखने के लिए 100 पुलिस कर्मी सादे कपड़ों में तैनात रहेंगे।
मेले की सुरक्षा में चार एएसपी, 11 सीओ, 12 इंस्पेक्टर, करीब 200 सब इंस्पेक्टर, 60 हेड कांस्टेबल, 700 के करीब कांस्टेबल और 150 महिला कांस्टेबल लगाए गए हैं। यातायात व्यवस्था सुदृढ़ रखने के लिए 100 यातायात पुलिस भी तैनात किए गए हैं। यही नहीं पांच कंपनी पीएसी, दो कंपनी रैपिड एक्शन फोर्स भी किसी भी विपरीत स्थिति से निपटने के लिए हर वक्त तैनात रहेंगे। यही नहीं मंदिर और आसपास की सुरक्षा में रिजर्व पुलिस बल की भी व्यवस्था की गई है। क्यूआरटी में एटीएस को भी रखा गया है।

मंदिर में एक अस्थायी थाना और छह चैकियां भी बनीं

एक साथ हजारों की भीड़ मंदिर में उमड़ेगी। इने सकुशल खिचड़ी चढ़ाने के लिए मंदिर परिसर में एक थाना और छह पुलिस चैकियां भी बनाई गई हैं। यह अस्थायी व्यवस्था करीब सवा महीने तक की गई है। मंदिर परिसर में 20 मेटल डिटेक्टर लगाया गया है। इसके अलावा 6 फायर टेंडर और एक प्लाटून फ्लड पीएसी भी मौजूद रहेगा।

लोगों के सुगम आगमन के लिए रोडवेज, रेलवे ने की स्पेशल व्यवस्था

सुप्रसिद्ध खिचड़ी मेले में आने वाले श्रद्धालुओं को कोई परेशान न हो इसके लिए रोडवेज और रेलवे ने व्यापक व्यवस्था की है। रोडवेज ने विभिन्न शहरों से गोरखपुर तक के लिए 300 से अधिक बसें चलवाई है। इसके अलावा कई स्पेशल ट्रेन रेलवे ने व्यवस्था की है। मंदिर में बने कंट्रोल रुम में यातायात संबंधी जानकारियां भी श्रद्धालु ले सकेंगे। अपने परिवारीजन से बिछड़े लोगों या किन्हीं कारणवश धन की कमी होने पर रोडवेज ऐसे श्रद्धालुओं को फ्री में गंतव्य तक पहुंचाएगा।

टूरिस्ट पुलिस लगाए गए हैं लोगों की मदद को

पहली बार गोरखनाथ मंदिर में लगने वाले मेले में टूरिस्ट पुलिस को लगाया गया है। टूरिस्ट पुलिस आने वाले लोगों को मंदिर तक पहुंचने, होटल या अन्य जगहों, यातायात संबंधी जानकारियों को लोगों को मुहैया कराएंगे। वह जानकारियों से संबंधित पंपलेट भी बांटेंगे। विदेशी टूरिस्टों के लिए भी यह पुलिस काफी मददगार होगी। यह अंग्रेजी में भी जानकारी देने में सक्षम होंगे।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned