scriptfirst raped then marriage for fear of going to jail | जेल के डर से याद आया प्यार,पहले किया दुष्कर्म फिर शादी | Patrika News

जेल के डर से याद आया प्यार,पहले किया दुष्कर्म फिर शादी

पिपराइच क्षेत्र के एक युवक ने उस लड़की से शादी रचा ली है,जिसके साथ उसने कुछ दिनों पूर्व दुष्कर्म किया था। दुष्कर्म मामले में वह जेल भी गया था। जब वह जमानत पर छूट कर घर आया तो कही उसे दोबारा इन आरोपों में जेल न जाना पड़े ,इसके लिए उसने उस लड़की से शाादी रचा ली ।

गोरखपुर

Updated: January 11, 2022 08:12:58 am

पिपराइच क्षेत्र के एक युवक ने उस लड़की से शादी रचा ली है,जिसके साथ उसने कुछ दिनों पूर्व दुष्कर्म किया था। दुष्कर्म मामले में वह जेल भी गया था। जब वह जमानत पर छूट कर घर आया तो कही उसे दोबारा इन आरोपों में जेल न जाना पड़े ,इसके लिए उसने उस लड़की से शाादी रचा ली । जेल के डर से उसे प्यार याद आया और उसने लड़की के साथ सात जन्मों तक साथ निभाने की कस्में ले डाली।
vivah_me_jana.jpg
युवक ने जब लड़की के साथ दुष्कर्म किया तो उसने सोचा तक नहीं होगा कि उसे उसी लड़की को अपना जीवन साथी बनाना पड़ेगा। मामला तीन साल पहले का है। पिपराइच क्षेत्र के एक गांव के रहने वाले युवक ने नाबालिग प्रेमिका के साथ दुष्कर्म कर दिया था। लड़की के परिजनों ने इसकी शिकायत पुलिस से की थी। शिकायत पर पुलिस ने मामले की छानबीन की और युवक को दोषी पाया। संबंधित धाराओं में कार्रवाई करते हुए पुलिस ने उसे जेल भेज दिया था ।
जानकारी के मुताबिक, तीन साल पहले एक युवक पर किशोरी ने दुराचार का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराया था। लड़की दलित परिवार की होने के कारण उस समय लड़का पक्ष शादी को तैयार नहीं हुआ। जिससे युवक को जेल जाना पड़ा। गांव में आने पर संभ्रात लोगों ने दोनों परिवारों को समझाया और युवक को भी बताया कि आजीवन कारावास के आरोपी बन जाओगे। जेल के डर से उसे प्यार फिर याद आ गया और दोनों ही परिवार की रजामंदी से उसने शादी रचा ली।
थानाध्यक्ष पिपराइच ने बताया कि आरोपी ने जेल से छुटने के बाद परिजनों के समझाने पर युवती से शादी का निर्णय लिया। युवक पक्ष लड़की पक्ष की सारी शर्तें मान लीं और क्षेत्र के क्षत्रिय बाबा मंदिर में शादी रचा ली है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.