लक्ज़री गाड़ियों को लेते थे किराए पर फिर रख देते थे गिरवी

पुलिस अधीक्षक उत्तरी गणेश साहा ने किया खुलासा, 11 चारपहिया वाहन भी बरामद

 

By: धीरेन्द्र विक्रमादित्य

Published: 09 Dec 2017, 07:23 PM IST

Gorakhpur, Uttar Pradesh, India

गोरखपुर। गाड़ियों को चलवाने के नाम पर एग्रीमेंट कर उन गाड़ियों को गिरवी रखने वाले एक गिरोह का पुलिस ने पर्दाफाश किया है। गिरोह के सदस्यों की निशानदेही पर पुलिस ने 11 लक्ज़री गाड़ियों को भी बरामद करने में सफलता पाई है। इस गिरोह के दो सदस्य पुलिस के हत्थे चढ़े हैं।
गोरखपुर जिले में पिछले कुछ दिनों से गाड़ियों को किराए पर लेने वाला एक गिरोह सक्रिय था। यह गिरोह गाड़ी मालिको से किराए पर चलवाने के लिए गाड़ियों को लेता था। बाकायदा इसका एग्रीमेंट करवाता। एक साल का एग्रीमेंट करवाने के साथ दो महीने की पेशगी भी देता था ताकि उनके इरादे के बारे में किसी को शक न हो।
पुलिस अधीक्षक उत्तरी गोरखपुर गणेश साहा ने बताया कि पिछले कई महीनो से यह शिकायत आ रही थी कि कुछ लोग गाड़ियों को किराए या लीज पर लेकर उसको गिरवी रख देते थे। अधिकतर गाड़ियों को ये लोग लखनऊ ले जा कर गिरवी रख देते थे। जब कुछ दिन बीतता था तो ये लोग वाहनस्वामी को दिए अपने मोबाइल नम्बर को बंद कर देते थे।
साहा ने बताया कि खजनी, गुलरिहा, कैंट सहित कई थानाक्षेत्रों से इस तरह की काफी शिकायतें आ रही थी। इसमें रिंकू पांडे व पवन दुबे का नाम हर जगह से आ रहा था। उन्होंने बताया कि जब तफसील से पता लगाया तो मामला सही निकला।
उन्होंने बताया कि पुलिस ने इस मामले में गुलरिहा क्षेत्र के संगम चौराहा के पास से एक बदमाश को धर दबोचा है। इसकी निशानदेही पर 11 गाड़ियों को विभिन्न जगहों से बरामद भी किया गया है। उन्होंने बताया कि दोनों ने अबतक दो दर्जन गाड़ियों को फर्जीवाड़ा कर गिरवी रखा है।
एसपी नार्थ साहा ने बताया कि रिंकू पांडेय की गिरफ्तारी के बाद अब पवन दुबे की तलाश की जा रही है।

ये गाड़ियां हुई बरामद

स्विफ्ट डिजायर- 3
स्कार्पियो- 2
इनोवा- 3
मारुती ब्रेज़ा- 1
बोलेरो- 1
अर्टिगा- 1

खुलासा में इन पुलिसवालों का रहा योगदान

इंस्पेक्टर ओमहरि बाजपेयी, सत्यप्रकाश सिंह, बृजेंद्र गिरी, सुनील सिंह, सुनील कुमार सिंह, देवतानंद सिंह, नरेंद्र कुमार उपाध्याय, सर्वजीत यादव, राधाकृष्ण यादव, जय प्रकाश विश्वकर्मा, अरविन्द सिंह।

एसएसपी ने किया पुरस्कृत

एसएसपी सत्यार्थ अनिरुद्ध पंकज ने गिरोह का खुलासा करने व फर्जीवाड़ा कर गिरवी रखी गई गाड़ियों के जखीरे को बरामद करने वाली पुलिस टीम को पांच हजार का नकद पुरस्कार दिया है।

 

 

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned