गोरखपुर में बंधक बनाकर डकैती कांड: देवरिया और बलिया से भी गिरफ्तारियां, लूटपाट के बाद लड़कियों से की थी छेड़खानी

  • गोरखपुर से पकड़े गए जीजा-साला, लूटपाट की घटना में थे शामिल
  • बलिया से पकड़ा गया बदमाश है गैंग का सरगना
  • पुलिस का दावा जल्द गिरफ्तार होंगे सभी बदमाश

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

गोरखपुर. यूपी के गोरखपुर जिले में गगहा थानाक्षेत्र में ईंट भट्ठे पर बीते मंगलवार को भट्ठा मजदूर परविारों को बंधक बनाकर उनसे लूटपाट और लड़कियों के साथ छेड़खानी के मामले में क्राइम ब्रांच की टीम ने दो बदमाशों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए दोनों बदमाश झंगहां थानाक्षेत्र के रहने वाले और रिश्ते में आपस में जीजा और साले लगते हैं। बलिया का रहने वाला विष्णु यादव इनके गैंग का सरगना है। उसे बलिया पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। कुछ लोग देवरिया से भी पकड़े गए हैं, पुलिस का कहना है कि वह बहुत जल्द ही पूरी घटना का पर्दाफाश करेगी।


इस घटना में पुलिस के हाथ अब तक जो सुराग और जानकारियां लगी हैं। उससे लगता है कि पुलिस मामले के खुलासे के बिल्कुल नजदीक है और जल्द ही आरोपी उसके गिरफ्त में होंगे। एसएसपी जोगेंद्र कुमार ने भी बताया है कि गगहा में ईंट भट्ठे पर लूट-पाट व लड़कियों से छेड़खानी करने वाले डकैतों की तलाश चल रही है। कुछ महत्‍वपूर्ण जानकारी हाथ लगी है। जल्‍द ही घटना का पर्दाफाश किया जाएगा। पुलिस के मुताबिक पकड़े गए महेन्द्र यादव ने 2017 में भी झंगहां इलाके के एक ईंट भट्ठे पर लूटपाट की घटना को अंजाम दिया था। उस मामले में भी उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया।

10 नवंबर को हुई थी लूट

एसपी साउथ विपुल श्रीवास्तव और सीओ रत्नेश सिंह ने रविवार को मीडिया को बताया कि बीते 10 नवंबर 2020 को गोरखपुर के गगहा थाना क्षेत्र के सकरी गांव स्थित रामकृपाल मिश्र के ईंट भट्ठे पर आधी रात को बदमाशों ने धावा बोल कर वहां रह रहे मजदूरों को बंधक बनाकर उनसे 76 हजार से अधिक रुपये और मोबाइल आदि लूट लिये थे। साथ ही लड़कियों से छेड़खानी भी की थी।


ऐसे पकड़े गए आरोपी जीजा साले

गगहा क्षेत्र में लूट के बाद पुलिस बदमाशों की तलाश में जुटी ही थी कि देवरिया में भी इसी तरह की घटना सामने आ गई। इसी बीच गोरखपुर पुलिस की क्राइम ब्रांच, स्वाट और स्थानीय थाने की टीम ने घेराबंदी कर आटो सवार झंगहा के नई बाजार रसूलपुर नंबर दो निवासी महेन्द्र यादव व उसके साले झंगहा के बैरवा निवासी सुनील यादव को आटो से गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में दोनों ने घटना में शामिल होने की बात कबूल ली। पुलिस ने उनके पास से लूट का 20,670 रुपया, तीन मोबाइल फोन, 315 बोर का एक तमंचा, घटना में इस्तेमाल हुआ ऑटो और गहने बरामद कर लिये। उधर वारदात में शामिल एक बदमाश विष्णुदेव यादव को बलिय और एक को देवरिया में भी पकड़ लिया गया। इनसे पूछताछ के आधार पर बाकी बदमाशों की धर पकड़ तेज कर दी गई है।


पहले की रेकी, फिर बोला धावा

बदमाशों ने ईंट भट्ठे पर लूटपाट से पूर्व दो दिन पहले वहां की रेकी की थी। इसके बाद वो लोग 1 नवंबर की रात को लूट की घटना को अंजाम देने ऑटो में वहां पहुंचे थे। पूछताछ में पकड़े गए बदमाश ने पुलिस को बताया कि महेन्द्र ने लड़कियों के साथ छेड़छाड़ की थी और उनके साथ दरिंदगी करने की कोशिश भी की, लेकिन साथियों के मना करने पर छोड़ दिया। पुलिस की मानें तो बलिया में पकड़ा गया विष्णु देव यादव गैंग का सरगना है। उसके खिलाफ लूट, डकैती और हत्या की कोशिश व आर्म्स एक्ट समेत 10 मुकदमे दर्ज हैं।

Show More
रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned