छात्र नेताओं की मांग, कोरोना संकट में न कराएं परिक्षा, BA , BSC के छात्रों को प्रमोट कर दें अगले वर्ष में प्रमोट

गोरखपुर यूनिवर्सिटी के छात्र नेताओं ने BA और BSC के फ़र्स्ट इयर और सेकंड इयर के छात्रों को प्रमोट करने की उठाई मांग।

गोरखपुर. कोरोनावायरस महामारी के चलते लॉग डाउन लगने के बाद देशभर में नर्सरी से लेकर यूनिवर्सिटी तक सब बंद है। इसके चलते कई विश्वविद्यालयों की परीक्षाएं निरस्त करनी पड़ी तो कई जगह प्रवेश परीक्षा को भी अगले आदेश तक स्थगित कर दिया गया। परीक्षाएं पूरी ना होने के चलते विश्वविद्यालयों का रिजल्ट मटका हुआ है जिससे छात्रों को अपना वर्ष बर्बाद होने की चिंता सता रही है। दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय छात्र नेताओं ने वीसी से मांग की है की यूनिवर्सिटी के दिए और बीएससी के प्रथम व द्वितीय वर्ष के छात्रों को प्रमोट कर दिया जाए। उनका कहना है कि इस महामारी में परीक्षाओं का आयोजन कराना जानलेवा हो सकता है ऐसी स्थिति में विश्वविद्यालय को स्थिति को समझते हुए छात्रों को अगले वर्ष में प्रमोद कर देना चाहिए।

 

छात्र नेता मनीष ओझा के नेतृत्व में किस संबंध में गोरखपुर विश्वविद्यालय के कुलपति को ज्ञापन सौंपा गया जिसमें करो ना महामारी की भयावहता और लॉक डाउन की मजबूरी का उल्लेख करते हुए परीक्षाएं न कराने और छात्रों को अगले वर्ष में प्रमोट करने की मांग की गई।

 

ज्ञापन सौंपने वालों में गौरव वर्मा, प्रखर पांडेय, प्रबोध पाण्डेय,अभय शाही ने इस मांग पर अपनी सहमति जताते हुए ज्ञापन सौंपा। छात्र नेताओं का कहना था कि उनकी मांग जायज है क्योंकि लॉक डाउन और कोरोनावायरस के चलते छात्रों के लिए इस परिस्थिति में परीक्षा देना खतरे से खाली नहीं।

coronavirus
रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned