बाढ़ की त्रासदी: गोरखपुर विवि के शिक्षक बाढ़ पीड़ितों को एक दिन का देंगे वेतन

आज देशव्यापी हड़ताल पर हैं शिक्षक, आंदोलन केदौरान लिया निर्णय

By: sarveshwari Mishra

Published: 22 Aug 2017, 02:27 PM IST

गोरखपुर. दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय के शिक्षक बाढ़ पीड़ितों की मदद को आगे आये हैं। आज अखिल भारतीय धरने में अपनी उपस्थिति व विरोध दर्ज कराने पहुंचे शिक्षकों ने यह निर्णय लिया।

 

 

अखिल भारतीय विश्वविद्यालय एवं महाविद्यालय शिक्षक संगठन (AIFUCTO)के आह्वान पर मंगलवार को शिक्षक देशव्यापी हड़ताल पर रहे। दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय शिक्षक संघ के शिक्षकों ने भी सातवें वेतन आयोग की सिफारिशें लागू करने में सरकार की उपेक्षात्मक उदासीनता के विरोध में काली पट्टी बांधी और सांकेतिक धरना किया। धरने में पहुंचे शिक्षकों ने बाढ़ पीड़ितों के प्रति अपनी संवेदना भी प्रकट की।

 

 

संघ के वरिष्ठ मंत्री डॉ.विजय कुमार चहल ने बताया कि आंदोलित शिक्षकों ने पूर्वी उत्तर प्रदेश और बिहार के बाढ़ पीड़ित जनता के कष्ट के प्रति अपनी संवेदना जाहिर करते हुए यह सर्वसम्मत निर्णय लिया कि शिक्षक आंदोलन के साथ-साथ बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए भी अपने कर्तव्य का निर्वहन करेंगे । यह निश्चय किया कि शिक्षक संघ के आव्हान पर सभी शिक्षक अपना एक दिन का वेतन बाढ़ पीड़ितों की सहायता हेतु देंगे ।

 

बतादें कि आज देशभर के आठ लाख विश्वविद्यालय और महाविद्यालय शिक्षक अपनी मांगों के समर्थन में "काला दिवस" मनाने के साथ ही सभी राज्यों की राजधानी में 'विशाल धरना ' का आयोजन कर विरोध प्रदर्शन कर रहे। धरना में केन्द्रीय वि.वि.शिक्षक संघ (FEDCUTA) तथा अवकाशप्राप्त शिक्षकों का अखिल भारतीय संगठन (AIFRUCTO)ने भी आंदोलन का समर्थन करते हुए "धरना" और" काला दिवस" में सक्रिय भागीदारी का निर्णय लिया है। इसी कड़ी में मंगलवार को गोरखपुर में भी विवि के प्रशासनिक भवन पर शिक्षकों ने प्रदर्शन किया।

 

 

वक्ताओं ने प्रो.चौहान कमेटी की अनुशंसाओं को सार्वजनिक नही करने और शिक्षक संगठनों से छुपाकर जैसे-तैसे लागू करने की सरकार की मंशा को गैर जनतांत्रिक एवं देश के शिक्षकों के साथ धोखाधड़ी करार दिया है। शिक्षक संघ के अध्यक्ष प्रो. विनोद कुमार सिंह ने रोष व्यक्त करते हुए कहा है कि सरकार द्वारा वेतनमान लागू करने में जानबूझकर की जा रही रहस्यमय देरी से देश के शिक्षकों में गुस्सा बढ़ता जा रहा है। शिक्षक गम्भीर आंदोलन की ओर बढ़ने के लिए मजबूर किये जा रहे हैं।

 

 

धरने को शिक्षक संघ अध्यक्ष प्रो. उमेश नाथ त्रिपाठी, प्रो.हर्ष कुमार सिन्हा, प्रोफेसर कमलेश गुप्त, प्रो. हरि शरण, डॉक्टर आलोक गोयल , प्रो.सुनीता मुर्मू, प्रो. संजय बैजल, डॉक्टर विमलेश मिश्र प्रोफेसर चंद्रभूषण अंकुर, डॉ. राकेश तिवारी तथा डॉ.ध्यानेन्द्र नारायण दुबे ने भी संबोधित किया।

 

इनपुट- गोरखपुर से धीरेंद्र गोपाल की रिपोर्ट

sarveshwari Mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned